राम मंदिर का मुद्दा कैसे हल /समाधान होगा।


राम मंदिर का मुद्दा तो कई वर्षों से चल रहा है , लेकिन अभी तक इसका समाधान नहीं निकला है। मैं आज आपको कोई इतिहास नहीं बताऊँगा राम मंदिर के बारे में। वह तो आप जानते ही हैं। बल्कि वह सभी समाधान बताऊंगा जिसको लोग , सरकार अपनाए तो इस मुद्दे को हल कर सकती है।

राम मंदिर के बारे में संक्षिप्त जानकारी। 

कुछ जानकारी आपको जाननी जरूरी है , तभी इसका हल निकल पायेगा। राम मंदिर जो की अयोध्या में है।
जिसमे हिन्दुओं की मान्यता है कि यहाँ पर राम का जन्म हुआ था , और फिर राम की मंदिर बनी थी।
वहीं दूसरी तरफ मुसलमानों का कहना है कि यहाँ पर बाबरी मस्जिद थी जो की बाबर के द्वारा बनाया गया था।

तो यहाँ पर आप साफ़ -साफ़ देख सकते हैं कि यह मुद्दा धर्म से जुड़ा हुवा है। एक तरफ हिन्दु है वहीं दूसरी तरफ मुसलमान है। तो इसे हम धर्म के अनुसार ही हल करेंगे।

ram mandir ka issue solve kare
ram mandir ka issue solve kare
राम मंदिर का मुद्दा कैसे हल होगा। 

जबकि इसका फैसला supreme court में अटका हुवा है , और लोग court के निर्णय का इंतज़ार कर रहे हैं। मैं आपको बता दूँ कि court कभी भी इस मुद्दे को हल नहीं करेगी। तो मैं यहाँ पर कुछ cases दे रहा हूँ जिसे यदि court स्वीकारती है तो यह मुद्दा हल हो जायेगा। नहीं तो ऐसे ही तारीख पे तारीख बढ़ती रहेगी।


Case :-1  राम मंदिर का मुद्दा कैसे हल होगा।  ( धार्मिक नजरिया )

भगवतगीता श्लोक 1 /1  - 
धर्मक्षेत्रे कुरुक्षेत्रे समवेता युयुत्सवः।
मामकाः पाण्डवाश्चैव किमकुर्वत संजयः।।

आपको जानकर हैरानी होगी की यह श्लोक इसी समय के लिए लिखी गई है। उस समय द्वापर में एक ही धर्म था , तो धर्मक्षेत्र कहाँ से होगा। यह बात तो अभी की है जहाँ हिन्दु -मुस्लिमादि अनेक धर्म आ गए हैं।

तो इस धर्म क्षेत्र की लड़ाई को रोकने के लिए गीता में क्या कहा गया है ? 

गीता में कहा गया है कि - सर्व धर्मान परित्यज्य मामेकं सरणं व्रजः।
यानि तू सभी हिन्दु -मुस्लिमादि धर्मों को छोडके मेरी शरण में आ जा। मैं तुझे सभी पापों से मुक्ति दूंगा।

वहीं  मुसलमान भी मानते है - कि किसी भी धर्म की ग्लानि नहीं करनी चाहिए।

अब इन बातों से क्या निकल के आता है -
कि राममंदिर का मुद्दा कोई धार्मिक मुद्दा नहीं है। क्यूंकि धर्मों को मानने वाले आपस मैं नहीं लड़ते हैं।

जब बाबर भारत के हिन्दु मंदिरों को तोड़कर मस्जिद बना रहा था , तब भारत में मुसलमानों का दबदबा था। और जब कोई हिन्दु आवाज उठाता था तो उसे मार दिया जाता था।

तो अब मैं अपने मुसलमान भाइयों से पुछना चाहता हूँ कि -
आप बाबर को सच्चा मुसलमान कहेंगे क्या ?
नहीं कहेंगे।

तो ऐसे लोगों के द्वारा बनाई गई मस्जिद में आप जाएंगे जिसने लूट -मार की धन -दौलत से मस्जिद बनाया हो।

आज की दुनिया में भी लोग मार-काट करके पैसा कमाते हैं और बोहोत अमीरी से ज़िन्दगी जीते है - तो ऐसे पैसों से कोई मंदिर बनाएगा तो आप वहां जायेंगे क्या जो मंदिर आपके देश के भाइयों के खून से रंगा हो।

तो जो धार्मिक व्यक्ति होगा वह वहाँ पूजा करने नहीं जायेगा।  क्यूंकि उनको पता है कि धर्म का मतलब होता है धारणा

तो इससे यह बात साफ़ हो जाती है कि जो मुसलमानी धार्मिक व्यक्ति है - वह इस मुद्दे से दूर रहेंगे।  और वहाँ कुछ भी बने उनको फर्क नहीं पड़ेगा। तो यदि वहाँ पर मंदिर बनता है तो मुसलमान भाइयों को उसे रोकना नहीं चाहिए बल्कि इस काम के लिए उन्हें ओर सराहना देना चाहिए।

लेकिन ऐसा नहीं होगा , क्यूंकि भारत सरकार चाह के भी वहाँ मंदिर नहीं बना सकती। कैसे नहीं बना सकती , उसके लिए आगे के post को ध्यान से पढ़िए।



Case :- 2  राम मंदिर का मुद्दा कैसे हल होगा ?( राजनितिक नजरिया)

सरकार proof और प्रमाण के आधार पर काम करती है और इसका अब तक कोई ठोस proof नहीं आया है जिससे की एकतरफा फैसला सुनाया जाए। जब भी फैसला सुनाया जायेगा , तो दोनों पक्षों के हीत में फैसला होगा।

Situation 1 :- आधे जमीन पर मंदिर / आधे जमीन पर मस्जिद बनाया जाये।
Situation 2 :- वहाँ कुछ ना बनाया जाये।  ना मंदिर और ना ही मस्जिद।
Situation 3 :- वहाँ पर कुछ ऐसा बनाया जाए जिससे की आम लोगों को लाभ मिल सके।
जैसे :- Hospitals , Schools , Factories etc  जिससे सभी धर्मो के लोगों को फायदा हो।

Situation 4 :- Court के बाहर ही हिन्दु और मुसलमान के बड़े नेता बैठकर मुद्दे को सुलझा ले। जिससे की लड़ाई का माहोल ना बने , politics ना हो पाए और सभी भाईचारे से रहे।
Situation 5 :- कोर्ट इसी तरह तारीख पे तारीख बढ़ाते रहे और इस मुद्दे को कभी हल ना करे।

Case :- 3  राम मंदिर का मुद्दा कैसे हल होगा ? मेरा सुझाव। 

मेरा सुझाव यही है कि वहाँ पर School /Collage/Hospital खोले जाए जिससे की वहाँ के वासियों को फायदा हो सके।
ऐसा इसलिए क्यूंकि अब समय समाप्त हो गया है जब धर्म के नाम पर लोग लड़ते थे और अपने धर्म को लोग आगे लाना चाहते थे।
अभी वर्तमान समय है उन्नति लाने का , विकाश लाने का। जो की देश की जरूरत है। और यदि इस समय हम इन मुद्दों पर अटक जायेंगे तो फिर हमारा देश कभी विकाश नहीं कर पायेगा।
और जब देश का विकाश होगा तो हम सबका विकाश होगा।

Special Note :- धर्म इसलिए बनाए जाते है जिससे की लोगों में धारणाएं आए। और उनका विकाश हो सके। इसलिए आप, सभी लोगों के विकाश के लिए सोचिये।  उस समय धर्म माध्यम था , इस समय आप माध्यम है।

तो दोस्तों यह थी मेरी राय राम मंदिर के बारे में। आप क्या सोचते है ? राम मंदिर के मुद्दे को कैसे हल किया जा सकता है? आप अपना सुझाव नीचे comment box में comment करके दीजिये। हो सकता है आपका सुझाव लोगों को प्रभावित करे और यह बड़ी परेशानी हल हो जाये।


और आप इस post को जरूर अपने दोस्त , रिश्तेदारों को share करे।  अपने facebook ,watsapp में भी share करे।  जिससे की लोगों में जागरूकता हो और वे भी अपना राय दे सके।
धन्यवाद।

Share this

Never miss our latest news, subscribe here for free

Related Posts

Previous
Next Post »