Corona Virus Song- ब्रेथलेस सोंग रीदम (शंकर महादेवन )


नमस्कार दोस्तों आपका AnekRoop में स्वागत है। यह song आज की दुनिया में हो रहे अत्याचारों पर है कैसे लोगों ने प्रकृति को उत्तम से कनिस्ट बनाया है ? और कैसे आज प्रकृति दुःख से रो रही है जिसका जिम्मेवार केवल और केवल मनुष्य है।
तो यह song कुछ इस प्रकार है :-
Tip - इस song को breathless song (शंकर महादेवन ) के Rhythm में पढ़िए तो और आनंद आएगा।





आज हवाओं में ज़हर है ,
अग्नि में कहर है।
धरती में काल है ,
लोग बेहाल है।
पानी में कचड़ा है ,लोगों में लफड़ा है ,
सबके दिलों को साइंस ने जकड़ा है।

धरती में जल नहीं ,जल में बल नहीं।
वायु में नमी नहीं ,कुछ भी सही नहीं।

जैसे सबकुछ जल रहा ,सबको मसल रहा।
धीरे-धीरे करके सबको निगल रहा।।
मन भी मचल रहा ,दिल भी धड़क रहा ,
 धीरे -धीरे करके जान फिसल रहा।।

coronavirus song
coronavirus song
.


जिसने सबकुछ सहकर प्यार दिया था ,सुख भी दिया था ,
शांति भी दी थी।
सुंदरता जैसे चारों तरफ थी ,
निर्भयता जैसे सबके दिलों में थी।
हरियाली भी थी ,शक्ति भी थी ,समृद्धि भी थी।
क्यूंकि सबके दिलों में कुदरत के लिए भक्ति भी थी।।

आज कुदरत रो रही ,
दिल से तड़प रही ,
धीरे-धीरे अपना सबकुछ खो रही।
अंदर ही अंदर सबकुछ सह रही
और सह करके कुछ ना कह रही।।

क्यूंकि -क्यूंकि.......

 जिस डाल पे बैठे हैं ,
उसी को काट रहे हैं।
हाय-हाय कर रहे हैं
अपनी जेबें भर रहे हैं
और हम अपना सबकुछ खो रहे हैं।

इक दिन आएगा ,सबको ले जायेगा ,
पेड़ों के पत्ते ,झरनों के पानी ,
तितलियाँ रंग-बिरंगी कहानी।
पानी का गिरना ,दिल का मचलना ,
ठंढी हवाएं ,ठंढी घटायें ,
और बादल जैसे उड़ती फिजायें।।

सब कोई रोयेगा ,सब कोई खोयेगा ,
सबके दिलों में दर्द सा होयेगा।
सब कोई तड़पेगा ,सब कोई भटकेगा ,
और कुदरत बिन ,सब कोई तरसेगा।।

इक-इक पल का हिसाब वो लेगी ,
अपना सबकुछ चुक्ता करेगी।
बाढ़ ,तबाही ,भूकम्प भी लाएगी ,
पेड़ों का जलना ,मकानों का गिरना ,
और आंधी जैसे सबको खायेगी।।

तो सोच समझ कर कदम बढ़ाना ,
जो भी करना है ध्यान तू देना ,
कुदरत को नुकसान ना देना।
प्यार ही देना प्यार ही लेना।।

क्यूंकि...

आज हवाओं में ज़हर है ,
अग्नि में कहर है।
धरती में काल है ,
लोग बेहाल है।
पानी में कचड़ा है ,लोगों में लफड़ा है ,
सबके दिलों को साइंस ने जकड़ा है।।

तो दोस्तों यह थी Coronavirus song की lyrics जिसमे हमने जाना कि कैसे लोग आज प्रकृति को नुकसान पहुंचाकर परिणाम भुगत रहे है और यदि लोग नहीं सुधरे तो आगे भी भुगतेगी।
तो मैं उम्मीद करता हूँ कि ये song lyrics आपको जरूर पसंद आयी होगी।
यदि कोई भी इस lyrics से song बनाना चाहे तो बना सकता है -खुली offer है। सिर्फ song credit -www.anekroop.com दे देना है।


ये coronavirus song आपको कैसा लगा हमें नीचे comment करके जरूर बताये।
इसे share जरूर करें।
अपना महत्वपूर्ण समय देकर इस post को पढ़ने के लिए आपका बोहोत-बोहोत धन्यवाद।



Share this


EmoticonEmoticon