Police Station Ke Liye Application FIR Kaise Likhe


नमस्कार दोस्तों आपका AnekRoop में स्वागत है।  आज हम जानेंगे कि police station के लिए application और FIR कैसे लिखते है। आज हम इस post में FIR के नियम के बारे में जानेंगे और उसे application के माध्यम से आपको समझाने की कोशिश करेंगे।

Police Station में FIR ही लिखा जाता है , application नहीं लिखा जाता है।  फिर भी कोई अपनी परेशानी को application के माध्यम से देना चाहता हो , तो उसे स्वीकार कर लिया जाता है।

police station me application kaise likhe
police station me application kaise likhe
.

Police Station के लिए Application कैसे लिखे।

  • यदि आप Police Station के लिए Application लिख रहे है , तो आप सफ़ेद कागज पर application लिखे। 
  • उस application पर गवाह और police अधिकारी का हस्ताक्षर ले। और यदि आप गांव में रहते है तो गवाह और मुखिया का हस्ताक्षर ले.
  • application लिखते समय सरल भाषा का प्रयोग करे , और साफ़ -साफ़ लिखे , जिससे की application पढ़ने वाले को दिक्कत महसूस ना हो और वह आपकी बात को समझ जाये। 
  • जितना हो सके application को कम शब्दों में लिखने की कोशिश करे , ज्यादा लम्बा लिखने से मुद्दे की बात का पता नहीं पड़ता है। 
  • application में विषय , कारन , नाम , समय , का उल्लेख जरूर करे। 



Police Station में FIR लिखने के नियम। 

यदि आप पहली बार police station जा रहे है तो आपको ये post बोहोत मदद करेगी , इसके लिए आप इस post को जरूर अंत तक पढ़े।

FIR यानि First Information Report , जब हम police station किसी शिकायत या किसी परेशानी होने पर जाते है , तो police के officers FIR लिखते है , यानि हमारे परेशानी को FIR के रूप में लिखते है।

जिसमे हमारी परेशानी का कारन , वजह , समय , गवाह , सबूत इत्यादि चीजों का जिक्र होता है। 
जैसे - कब , कहाँ , किसने ,किसको , किसलिए , किसके सामने , किस प्रकार , क्या किया इत्यादि।

FIR के लिए कोई भी fee यानि पैसा नहीं लिया जाता है।  और आप कही भी किसी भी police station में FIR लिखवा सकते है।

FIR में Police अधिकारी के हस्ताक्षर , और उस Police Station का stamp रहता है। FIR लिखने के बाद वह आपको उस FIR का एक Copy देता है , और फिर वह इस जानकारी को अपने file में भी लिखेगा , की आपको एक FIR का Copy दे दिया गया है।

यदि आप अपनी बातों को application के माध्यम से देना चाहते है , तो यह सबसे अच्छा है , उसके लिए आप ये application पढ़े।
Police Station को Application

सेवा में ,
             श्रीमान थाना प्रबंधक
             नावाडीह (बोकारो )
विषय :- लड़ाई झगडे के सम्बन्ध में।
महोदय ,

सविनय निवेदन है कि मैं प्रभा देवी बाराडीह गांव की निवासी हूँ  और मैं जन वितरण प्रणाली की डीलर हूँ। मेरा कोई बेटा नहीं है तो मेरे साथ मेरा नाती और दामाद रहते है।

यह घटना है 4 /12 /2017  के रात्रि के 8 से 10 बजे तक की। मेरा भतीजा प्रकाश महतो , रात 8 बजे दारू पीकर घर आया और मेरे दामाद के गाडी को घसीटते हुए घर के बाहर निकाल दिया। और जब मैंने ऐसा कहा कि तुम क्यों ऐसा कर रहे हो , तब वह मुझे गाली - गलौज देता है और मेरी गर्दन  में हाथ रखकर कहता है की तुमको काट देंगे।

फिर मेरा नाती छुड़ाने आया तो उसको भी मारा और गाली गलौज करने लगा , मेरे दमाग से भी ठेल -ठाल किया और गाली देने लगा।

मेरा देवर नुनूचन्द महतो भी दारू पीकर मेरे घर वालों से लड़ाई -झगड़ा करने लगा और फिर उसका परिवार और पुतोहु सब हावी हो गए। वे  लोग कहते है तुमको गाडी रखने नहीं देंगे।

दरहसल बात कुछ और है , वे मेरे दामाद को देखना नहीं चाहते है और मेरा डीलरशिप और मेरी सारी जायदाद हथियाना चाहते है। इसको लेकर के वे लोग मुझे देखकर हमेशा टोन कसते है और अनाब सनाब कहते है।

ऐसी स्थिति में हमारा रहना मुश्किल हो गया है , मुझे डर लगता है कि  कब वे लोग आकर मुझे मार ना दें।

अतः आपसे निवेदन है कि आप कोई ठोस कदम उठाये ताकि मुझे और मेरे परिवार वालों को कोई परेशानी ना हो और कृपया मुझे शांति से रहने दें ।

आपकी  विश्वासी
 प्रभा देवी।

गवाह :-
सेवाराम महतो (मुखिया प्रतिनिधि )
गुलाब चंद महतो।

police station me application
police station me application
.
Police Station में Application देने के फायदे।

इसके फायदे तो अनेक है , जब हम application लिखते है और उसपर गवाह के हस्ताक्षर कराते है तो यह application सबूत के रूप में काम करता है , इससे आप किसी को भी जेल के अंदर करवा सकते है , और ऐसा करना जरूरी भी है।

यदि कोई आपको बार - बार परेशान करता है , तो आप एक सफ़ेद कागज पर application लिखकर के गवाह के हस्ताक्षर करा के , उसे police station में दे दें। इससे आपका  शिकायत दर्ज हो जाता है।
यदि वही व्यक्ति फिर आपको परेशान करता है तो उसपर कार्रवाई होगी और उसमें आप ही जीतेंगे , ऐसा इसलिए क्यूंकि वह application आपका सबूत के रूप में काम करेगा और उसे अंदर जाने से कोई नहीं रोक पायेगा। 




तो दोस्तों यह थी जानकारी police station में application लिखने की और FIR के बारे में। मुझे उम्मीद है की आपको यह जानकारी जरूर पसंद आएगी , यदि आपका कोई सवाल या कोई सुझाव है तो हमें निचे comment करके जरूर बताये।

ये भी पढ़े :-
और इस post को अपने दोस्तों तक, Watsapp , facebook,  twitter में शेयर करे, ताकि और लोगों को भी यह जानकारी मिल सके और वे भी लाभ उठा सके।और हमारे website को free में Subscribe  करे।

Share this

17 comments

  1. Sir bat ye h ki hmara ek pdosi jiski wife k sath mami g ki koi bat nhi thi mere mami wale phone pr chacha ji ka call aaya meri mami or bahin unke ghr pr the or uski bhabhi ka call aaya or usne kha ki lo bhabhi se bat kro to meri mami g ne chacha gi ka phone tha vo meri bhin ko de diya to vo vha se chli aayi to usne kisi k bahkave m aakar 3 din bad kha ki isne to meri bat chacha ji se krane k liye kha or usne apne pti se bat ki to uske pti ne ghr pr apne bache ko phone dekar bheja or mami ko gandi gali dene lga or jb mami ne usko kha tu h kha to vo ghr aaker galiya dene lga us tym ghr pr bhi koi nhi tha to to m jb aaya vo gali de rha tha mene usko peet diya uske bad usne application lgayi ki mami ne uski wife ko torcher kiya h to ab hme police k baare m koi knowladge nhi na kabhi zindgi m esa kaam hua to hme kya karna chahiye plz reply dena

    ReplyDelete
  2. Bhae aap se ek binti hai ki mujhe sujhab de ki agar mere bheya_bhabhi me unka apna parsnal mamla ho aur unki wife bolti hai ki mai sabko jel karva dungi aur meri bhabhi alag ho gae hai agar kes karne jayegi to usse pahale mujhe aur mere mami ko bachhane ke liye keya karna chahiye / ummid hai ki aap en bato se samjh gaye honge mai aapko keya kahana chah rahe hai jee dhanvad

    ReplyDelete
  3. Aapko sach ka sath dena chahiye. Yadi aapke bhaiya sahi hai to apne bhaiya ka sath dena chahiye aur yadi aapke bhabhi sahi hai to apne bhabhi ka sath dena chahiye..

    Aur kuch aise proof rakhna chahiye jisse ki sachayi samne aa sake.
    Koi video, audio, pictures , koi gawah ityadi.

    Nahi to ghar ke agal -bagal ke logon ko bulakar mamle ko suljha le aur unse ek kagaj me application likhkar sign karwa le.
    Jisse ki baad me kuch hota hai to aap use proof ke taur par dikha sake.

    ReplyDelete
  4. Mere bagal ke padosi humesha mere ghar ka darwaza pit the hai agl bagal ke logo ko bhi shikha kar bhejte hai humare darwaze ko pit the hai aur jab hum shiqayat kiye 100 pe police ko bulaye to koi karvai nahi hui her baar sirf samjha kar chhod dete hai meri mummy bhi police station me complete nahi karti hai insaniyat ke khatir to vo bagal wala padosi bahut galat baat bolta hai ki ghar me ghus ke maarege ye sab hum police ko bataye the per koi sunwai nahi hoti hum kya kare hume fir bhi likhne nahi aati kabhi likhe hi nahi hai aur police chauki pe koi likha nahi sabhi kehte hai ki aapko khud se likhna hoga jisne kabhi Fir nahi likhi ho vo kaise likhe hum jyada padhe likhe bhi nahi hai

    ReplyDelete
  5. Ye baat abhi kal ki hi hui hai kirpya hume koi rasta bataye

    ReplyDelete
  6. Bhai fir police wale likhte hai... Aapko sirf ek application dena hai.
    Police wale nhi sunte hai to DC ke paas jaye..
    Aur darne ki jaroorat nhi hai..Ab phir se gali galoj kare to video bana le.

    ReplyDelete
  7. Bahki websight sirf kitabi jankari bakte par aap practical jankari dete hai , sir aap yeh bataya kijiye ki document kiske pass jama karne honge

    ReplyDelete
  8. Bohot bohot dhanyawad, Aapki baton par hm gaur karenge .
    Iss post me documents police station me hi jama karna hai.

    ReplyDelete
  9. Hi actually me ek ladke k sath 9 saal se relationship me or 4 saal se living me rahe vo shadi ka bolta tha but ab usne or kahi sagai Kar li us ladke ne Meri life barbaad Kar di plzz btao mujhe Kya karna chahiye

    ReplyDelete
  10. Police saboot ke aadhar par kaam karti hai. Yadi aapke paas aisa koi saboot hai jisse lagta ho ki usne aapki zindagi barbad ki hai to aap uske khilaf complain kar sakte hai.Jisme, property, crime ,abuse jaisi chijen samil ho sakti hai.

    Police relationship jaise cases me action nahi leti hai kyunki aisa log apne choice se karte hai. Isiliye aapke paas koi thos saboot ka hona jaroori hai.

    ReplyDelete
  11. Sir namaskar me court me chota mota kam karti hu mera name payel ghosh he.sir Kal mera Papa ka dukan pe me jab gaya to dekha papa ka dukan ka staff ko 4/5 admi berehemi mar raha tha or rod se sar v phor diye jab me un admi logo ko churane gaya to o log mera hair pakar k niche girake mujhe v bahut mara tab as pas ka log Police ko cl kiya Police aya or gunde log ko pakar ke le gaya me uske badme hospital gaya OR medical karbaya staff ko bhi medical karbaya fir v likha sab documents ak satme lekar police station gaya or submit kiya or mujhe receive kar k v de diya next day me un gunde logo ka bel v ho gaya. Or phir se akar o log mujhe dhamki de raha he mujhe mar dega.kyu ki o logo ko police arrest kiya tha isiliye.
    Sir ab mujhe kya karna hoga mujhe pata nhi.agar ap kuch help karenge to bahut accha hoga.
    Thank you

    ReplyDelete
  12. पति पत्नी की लड़ाई का FIR लेटर

    ReplyDelete
  13. सर आप मेरा मदद चाहिए मेरा भाई

    ReplyDelete


EmoticonEmoticon