Police Station Ke Liye Application FIR Kaise Likhe


नमस्कार दोस्तों आपका AnekRoop में स्वागत है।  आज हम जानेंगे कि police station के लिए application और FIR कैसे लिखते है। आज हम इस post में FIR के नियम के बारे में जानेंगे और उसे application के माध्यम से आपको समझाने की कोशिश करेंगे।

Police Station में FIR ही लिखा जाता है , application नहीं लिखा जाता है।  फिर भी कोई अपनी परेशानी को application के माध्यम से देना चाहता हो , तो उसे स्वीकार कर लिया जाता है।

police station me application kaise likhe
police station me application kaise likhe
.

Police Station के लिए Application कैसे लिखे।

  • यदि आप Police Station के लिए Application लिख रहे है , तो आप सफ़ेद कागज पर application लिखे। 
  • उस application पर गवाह और police अधिकारी का हस्ताक्षर ले। और यदि आप गांव में रहते है तो गवाह और मुखिया का हस्ताक्षर ले.
  • application लिखते समय सरल भाषा का प्रयोग करे , और साफ़ -साफ़ लिखे , जिससे की application पढ़ने वाले को दिक्कत महसूस ना हो और वह आपकी बात को समझ जाये। 
  • जितना हो सके application को कम शब्दों में लिखने की कोशिश करे , ज्यादा लम्बा लिखने से मुद्दे की बात का पता नहीं पड़ता है। 
  • application में विषय , कारन , नाम , समय , का उल्लेख जरूर करे। 



Police Station में FIR लिखने के नियम। 

यदि आप पहली बार police station जा रहे है तो आपको ये post बोहोत मदद करेगी , इसके लिए आप इस post को जरूर अंत तक पढ़े।

FIR यानि First Information Report , जब हम police station किसी शिकायत या किसी परेशानी होने पर जाते है , तो police के officers FIR लिखते है , यानि हमारे परेशानी को FIR के रूप में लिखते है।

जिसमे हमारी परेशानी का कारन , वजह , समय , गवाह , सबूत इत्यादि चीजों का जिक्र होता है। 
जैसे - कब , कहाँ , किसने ,किसको , किसलिए , किसके सामने , किस प्रकार , क्या किया इत्यादि।

FIR के लिए कोई भी fee यानि पैसा नहीं लिया जाता है।  और आप कही भी किसी भी police station में FIR लिखवा सकते है।

FIR में Police अधिकारी के हस्ताक्षर , और उस Police Station का stamp रहता है। FIR लिखने के बाद वह आपको उस FIR का एक Copy देता है , और फिर वह इस जानकारी को अपने file में भी लिखेगा , की आपको एक FIR का Copy दे दिया गया है।

यदि आप अपनी बातों को application के माध्यम से देना चाहते है , तो यह सबसे अच्छा है , उसके लिए आप ये application पढ़े।
Police Station को Application

सेवा में ,
             श्रीमान थाना प्रबंधक
             नावाडीह (बोकारो )
विषय :- लड़ाई झगडे के सम्बन्ध में।
महोदय ,

सविनय निवेदन है कि मैं प्रभा देवी बाराडीह गांव की निवासी हूँ  और मैं जन वितरण प्रणाली की डीलर हूँ। मेरा कोई बेटा नहीं है तो मेरे साथ मेरा नाती और दामाद रहते है।

यह घटना है 4 /12 /2017  के रात्रि के 8 से 10 बजे तक की। मेरा भतीजा प्रकाश महतो , रात 8 बजे दारू पीकर घर आया और मेरे दामाद के गाडी को घसीटते हुए घर के बाहर निकाल दिया। और जब मैंने ऐसा कहा कि तुम क्यों ऐसा कर रहे हो , तब वह मुझे गाली - गलौज देता है और मेरी गर्दन  में हाथ रखकर कहता है की तुमको काट देंगे।

फिर मेरा नाती छुड़ाने आया तो उसको भी मारा और गाली गलौज करने लगा , मेरे दमाग से भी ठेल -ठाल किया और गाली देने लगा।

मेरा देवर नुनूचन्द महतो भी दारू पीकर मेरे घर वालों से लड़ाई -झगड़ा करने लगा और फिर उसका परिवार और पुतोहु सब हावी हो गए। वे  लोग कहते है तुमको गाडी रखने नहीं देंगे।

दरहसल बात कुछ और है , वे मेरे दामाद को देखना नहीं चाहते है और मेरा डीलरशिप और मेरी सारी जायदाद हथियाना चाहते है। इसको लेकर के वे लोग मुझे देखकर हमेशा टोन कसते है और अनाब सनाब कहते है।

ऐसी स्थिति में हमारा रहना मुश्किल हो गया है , मुझे डर लगता है कि  कब वे लोग आकर मुझे मार ना दें।

अतः आपसे निवेदन है कि आप कोई ठोस कदम उठाये ताकि मुझे और मेरे परिवार वालों को कोई परेशानी ना हो और कृपया मुझे शांति से रहने दें ।

                                                                                                      आपका विश्वासी
                                                                                                       प्रभा देवी।
गवाह :-
सेवाराम महतो (मुखिया प्रतिनिधि )
गुलाब चंद महतो।

police station me application
police station me application
.
Police Station में Application देने के फायदे।

इसके फायदे तो अनेक है , जब हम application लिखते है और उसपर गवाह के हस्ताक्षर कराते है तो यह application सबूत के रूप में काम करता है , इससे आप किसी को भी जेल के अंदर करवा सकते है , और ऐसा करना जरूरी भी है।

यदि कोई आपको बार - बार परेशान करता है , तो आप एक सफ़ेद कागज पर application लिखकर के गवाह के हस्ताक्षर करा के , उसे police station में दे दें। इससे आपका  शिकायत दर्ज हो जाता है।
यदि वही व्यक्ति फिर आपको परेशान करता है तो उसपर कार्रवाई होगी और उसमें आप ही जीतेंगे , ऐसा इसलिए क्यूंकि वह application आपका सबूत के रूप में काम करेगा और उसे अंदर जाने से कोई नहीं रोक पायेगा। 





तो दोस्तों यह थी जानकारी police station में application लिखने की और FIR के बारे में। मुझे उम्मीद है की आपको यह जानकारी जरूर पसंद आएगी , यदि आपका कोई सवाल या कोई सुझाव है तो हमें निचे comment करके जरूर बताये।

ये भी पढ़े :-
और इस post को अपने दोस्तों तक , watsapp , facebook ,twitter में शेयर करे , ताकि और लोगों को भी यह जानकारी मिल सके और वे भी लाभ उठा सके।

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »