Apne Ander Himmat Kaise Laye-Himmat Kaise Badhaye



किसी भी कार्य को सफलता तक ले जाने के लिए हिम्मत की जरूरत होती है।  हिम्मत ही एक ऐसी चीज़  है जो आपको रंक से राजा बना सकती है।  गरीब से अमिर बना सकती है।

लेकिन  प्रश्न यह उठता है की हरेक इंसान में यह हिम्मत क्यों नहीं होती।  बोहोत थोड़े ही लोग है , जो हिम्मत कर पाते  है और अपना सपना पूरा कर रहे है।

एक बोहोत पुरानी  कहावत है :- हिम्मत कर झोली भर।
तो अब यह हिम्मत हम कैसे लाये ? और कैसे झोली भरे?

himmat badhaye
himmat badhaye
.



अपने अंदर हिम्मत लाने के लिए आपको पूजा -पाठ , दवा खाने की जरूरत नहीं है।
अपने अंदर हिम्मत लाने के लिए आपको ज्ञान का तीसरा नेत्र खोलना होगा।

इसके लिए कोई स्कूल या कॉलेज जाने की जरूरत नहीं है। यह ज्ञान ऐसा है जो आपके अंतर -आत्मा को जगाएगी। आत्मा  जो कुम्भकरण की नींद में सोया पड़ा है , उसको जगाएगी।



तो अब यह ज्ञान कैसे काम करती है ?
अपने अंदर हिम्मत लाने के लिए आपको ज्ञान की गहरायी में जाना होगा। भल आप कोई भी कार्य कर रहे है , आप अपने कार्य के बारे  में ज्यादा से ज्यादा जानने की कोशिश करें।
और जब आप अपने कार्य को पूरी तरह से जान लेंगे तब उसके बारे में सोचना चालू कीजिये , मेरे कहने का मतलब है बुद्धि लगाना चालू कीजिये।

जब आप अपने कार्य में बुद्धि लगाना शुरू कर देते है ,  तो अब यहाँ से आपमें थोड़ी -थोड़ी हिम्मत आएगी।
और जब आप पूरी तरह किसी चीज में डूब जाते है तब इतना बुद्धि आपको हिम्मत देती है जिसका अंदाजा आप भी नहीं लगा सकते है।
आपने सही समझा बुद्धि आपको हिम्मत देती है , बुद्धि को  ही आपको बढ़ाना है जो केवल ज्ञान से ही बढ़ सकती है। जब आप किसी चीज को अच्छी रीती जान जाते है ,तो बुद्धि उसको बार -बार याद दिलाती है। और जब कोई चीज आपको बार -बार याद आती है तो वह चीज आपको बैठने नहीं देगी।

इसीलिए - हिम्मत ज्ञान की गहराईयों में जाने से आएगी। 

Ye bhi jane:-
*PM Garib Kalyan Yojana

*Internet se free sms bhejen

*13 types of online job from home

*Kaladhan ko wapas kaise laye

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »