Naya Gana Banane Ke Liye Lyrics- कुछ मंजिल ना रहा , समय ये बदल गया।


नमस्कार दोस्तों आपका AnekRoop में स्वागत है।  आज हमने एक ऐसा गीत लिखा है , जो की वर्तमान जीवन को दर्शाता है।  यह गीत हम सभी लोगों के लिए है , जिस तरह से दुनिया बदल रही है , उनका जीवन बदल रहा है।
पिछले 100 सालों में जिस प्रकार ये दुनिया बदली, इतना परिवर्तन पिछले 2000 सालों में नहीं हुवा था।

Science के साधन तो आये , लेकिन दुनिया की प्रकृति बदल गयी।  यह science और बढ़ती आबादी कई रोग लाए , महंगाई लाई। और एक चीज जो सबसे ख़राब आई , वो है बेईमानी।

naya gaana banane ke liye lyrics
naya gaana banane ke liye lyrics

तो ये गीत उन लोगों के लिए है , जो इस दुनिया के परिवर्तन के चलते अपने सपनों को पूरा नहीं कर पा रहे है। और दुनिया से अब कुछ नहीं चाह रहे हैं।

तो चलिए अब ये गीत सुनते है - कुछ मंजिल ना रहा , समय ये बदल गया।

समय - समय की बात है प्यारे ,
जी ले अब तू  समय के सहारे।
ना धोती होगा , ना कुर्ता होगा , और ना होगा दिल ,
बस ये संसार होगा , और ना होगा कोई मंजिल।

जादू सी दुनिया है प्यारे ,
जादूवी मेरा संगीत है प्यारे।
कभी हंसती , कभी रोती , दुनिया की रीत है प्यारे।

याद कर वो जवाना , जब सोने की चिड़ियाँ होती थी ,
सोने की दुनिया होती थी , सोने जैसा दिल होता था।
सोने की दिलों में , प्यारा सा इक मन होता था।

समय - समय की बात है प्यारे ,
जी ले अब तू  समय के सहारे।



लो आ गई  ऐसी दुनिया , जो हो गई बेरंग सी ,
सोने की जगह पर कुछ लोहे की सकल सी।
ना रहा प्यार , ना रही मोहब्बत , बस रह गई चतुराई ,
सोने भी अब मिलते हैं , वो भी लोहे वाली ।

आदते ख़राब हुवे , दुनियावीं ये रंग से ,
शराब , दारू , गुटखा , ये लोगों के पसंद हुवे।
लो बढ़ गई आबादी , और बढ़ गई बीमारी,
आज के ये अर्जुन , वो भी अब अशूर हुवे।

देखते ही देखते , जो दुनिया ये बदल गया ,
हालते ख़राब हुई , बेरोजगारी भी उछल गया।
रास्तें ए मंजिल , अब जीने का ही रह गया ,
मिट गए हैं सपने , क्यूंकि दुनिया ये बदल गया।

समय - समय की बात है प्यारे ,
जी ले अब तू  समय के सहारे।


Title - गीतों  के प्रेमी।- Hindi Song Lyrics...

कुछ ख़ास नहीं था जीवन में।
जो कुछ था , वो भी पा ना सका। -2
जो कुछ था मेरे जीवन में।
वो गीत में सबको सुनाता हूँ।

जीवन की ऐसी रीत है कि ,
जी के भी जी ना पाया मैं। -2
एक साथी की तलाश थी।
बस उसी की  ही गीत गया मैं।

कुछ ख़ास नहीं था जीवन में।
जो कुछ था , वो भी पा ना सका।

लोगों की परवाह नहीं थी ,
जो तू था मेरे पास। -2
ना जाने कितने दर्द सहे , कितनी ठोकर खायी ,कितने आंसू बहे।
उन आंसुओं से ही मैं ये संगीत  लिखता हूँ।

लगे थे हसने मुझपर , ये सारी  दुनिया।
मैं दुनिया को ही संगीत समझता हूँ। -2
कुछ करने की चाह नहीं है ,
बस और बस मैं गीत लिखता हूँ।

मैं दुआ करता हूँ,  कि सबको अपनी चाहत मिले,
जो है दिल के पास , वो चीज सलामत मिले। -2
चाहे ज़िन्दगी में कैसी भी परिस्थिति आये ,
ओ मेरे गीत , तू सदा मेरे साथ रहना।

कुछ ख़ास नहीं था जीवन में।
जो कुछ था , वो भी पा ना सका।


new song lyrics
new song lyrics
तो चलिए अब ये गीत सुनते है -

Title - ज़ान गई ऐसे की जान गए ना। 

ज़ान गई ऐसे की जान गए ना।
ज़िन्दगी से दूर हुए मान गए ना।

जीता था जिसके लिए , वो तो गई सान से।
दिल को चुरा ले गई और छोड़ दी बुरे हाल में।
मर गया अब देख लो , तू जी ले अब आराम से।

दुवा फिर भी करता हूँ , तू रहे खुशहाल सी।
यादों की तस्वीरों को ,  ले के चला जान से।
मर गया अब देख लो , तू जी ले अब आराम से। .

दुनिया की जंजीरों को , तोड़ नहीं पाई थी।
रो रही थी फिर भी , कुछ कह नहीं पाई थी।

बुरी दुनिया को , जो अपना तू समझ रही।
याद रख ये गीत मेरी , तू अब बदल रही।
तू अब बदल रही ,पर दुनिया ना सुधर रही।

क्या कसूर था मेरा , जो छोड़ गई तू मुझे।
जान से भी प्यारा ,जो केहता था दिल तुझे।

ज़िन्दगी के इस जंग में , लो हार गए ना।
 ज़ान गई ऐसे की जान गए ना।
ज़िन्दगी से दूर हुए ,मान गए ना। . . .


comedy song lyrics
comedy song lyrics 
तो चलिए अब हम पढ़ते है , comedy lyrics .
इस post में हमने 2 गाने लिखे है - जिनका शीर्षक है - मास्टर जी की टोपी और पगले की शादी है ।

1. Title - मास्टर जी की टोपी। 

ए मास्टर जी के टोपी ,
कहाँ गईल रे , -2

मास्टरजी विधायक के भइया ,
लेके चले अपनी सइयां।
कहाँ गईल रे।

ए मास्टर जी के टोपी ,
कहाँ गईल रे , -2

ए मास्टर -मास्टर करते बच्चे ,
मास्टर है बेईमान के बच्चे।
कहाँ गईल रे।
ए मास्टर जी के छोड़ी भाग गईल रे ,
तभी मास्टर जी के छोड़ी भाग गईल रे।

मास्टर है खिलाडी रे भैया ,
देखे छोड़ी के नाड़ी रे भैया ,
मार खइले।
हाँ जी मार खइले।
तब मास्टर जी की मौगी, भाग गइले ,
हाँ जी भाग गइले। .

मास्टरजी सुनते है कहानी ,
वो भी स्वर्गीय कबीर की वाणी,
मस्त रहिले , एकदम मस्त रहिले।
हाँ जी मस्त रहिले।

तभी मास्टर जी की छाती फाट गईले ,
हाँ जी फाट गइले।
और मास्टर की कहानी साफ़ हुई रे ,
एकदम साफ़ हुई रे , पूरा साफ़ हुयी रे। ... .

2.  Title - पगले की शादी।

पगले की शादी है आई ,
उसने पाई सुन्दर लुगाई।
उसका नाम था , राजू भाई। - 2
राजू रजंदर मौगी छुछुंदर , बाल बच्चा बन्दर। - 2

दारू की बोतल  है आई ,
पगला नाचे साथे लुगाई। -2
तभी पगले की धोती फट गईल रे ,
और उसकी मौगी फिर भी मस्त रहिले।
हाँ जी मस्त रहिले ,एकदम मस्त रहिले।

तभी हसने लगे बाराती सारे ,
पगले की नौटंकी भी जारी।
तभी उसकी मौगी , dj से भाग गइले ,
फिर भी पगले की मस्ती चल रहिले।
एकदम चल रहिले।



पगला था बेटा वो सयाना ,
देख के ये सब नाच रहा था।
फिर भी वो बुरा ना माना।
क्यूंकि पगले को राखी सावंत मिल गई रे ,
और पगला मस्ती में झूम रई रे ,
हाँ जी झूम रई रे , पूरा झूम रई रे। ......
तो  दोस्तों यह था मेरा गीत , इस दुनिया के ऊपर , मैं उम्मीद करता हूँ की आपको ये बेहद पसंद आया होगा।
आप इसे जरूर अपने दोस्तों तक सहारे करे , ताकि मुझे और प्रेरणा मिल सके।
धन्यवाद।

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »