रक्षाबंधन त्यौहार का महत्व और सिख


मैं आज आपको इस post के द्वारा रक्षाबंधन के रीती और रिवाजों के बारे में नहीं बताऊंगा बल्कि वह गहरी जानकारी देने वाला हूँ ,जो आपको रक्षाबंधन से प्रेरणा देगी और आपके त्यौहार मनाने के सोच को बदल कर रख देगी।

rakshabandhan ka matlab
rakshabandhan ka matlab
.


हम रक्षाबंधन कैसे मनाते है ?

हम अभी इतना ही करते है -की बहन अपने भाई के हाथों में राखी बांधती है ,फिर भाई उसको छोटा सा उपहार दे देता है ,और फिर त्यौहार ख़त्म।

लेकिन जब आप इस त्यौहार को गहरायी से समझेंगे ,तब आपका नजरिया कुछ और ही होगा।

रक्षाबंधन त्यौहार का महत्व और सिख

इस त्यौहार के 2 नाम है।
रक्षाबंधन और राखी।
रक्षाबंधन =रक्षा +बंधन। 
यानि यह त्यौहार आपको रक्षा भी करती है और आपको बंधन में रिस्ते में बांधती भी है।

लेकिन प्रश्न यह उठता है कैसे ?
क्या सिर्फ 1 धागा बांधने से किसी की रक्षा बढ़ जाती है ? नहीं। ,नहीं बढ़ती है।


तो फिर क्या होता है कैसे रक्षाबंधन से रक्षा होती है ?

तो इसका जवाब है इस त्यौहार का नाम यानि राखी।
राखी = पवित्रता। 
यह सिर्फ एक धागा नहीं है ,बल्कि पवित्रता का धागा है ,सम्बन्ध है ,जो भाई और बेहेन के जीवन में होती है।
दरहसल यह पवित्रता की शक्ति ही भाई -बहनो को बंधन में बांधती है और उसकी आयु बढाती है।

इसको आप ऐसे भी समझ सकते है।
Purity से होती है Unity - और Impurity से होता है विनाश।
यानि जहाँ पवित्रता होती है ,वहां संगठन जरूर होगा ,और उस संगठन में प्यार जरूर होगा। और इसका just उल्टा , जहाँ पवित्रता नहीं वहां प्यार नहीं तो संगठन की बात ही छोड़ दीजिये।

उसी तरह भाई और बहन का भी रिस्ता है -जो पवित्रता के डोर से बंधा हुआ है उसी डोर का नाम है राखी। कोई 10 रुपये के धागे का नाम राखी नहीं है ,इसी पवित्रता की बात है।

इसका सम्बन्ध ऐसा है कि इनको हर कदम रक्षा करती है। यह आपको back support देती है। जिससे आपकी मुश्किल आसान हो जाती है। यह बोहोत बड़ा त्यौहार है ,इसे सिर्फ धागा बांधने तक सिमित ना रखे।
क्यूंकि यह मानवजाति को संदेश देती है कि प्यार का मतलब कुछ और है जो भाई -बहनों में होती है।
यह ऐसा त्यौहार है जो आपको ज़िन्दगी भर मदद करती है।
यदि आपको यह जानकारी पसंद आया हो तो आप इस जानकारी को और लोगों तक पहुँचाने में मेरी मदद कर सकते है।
आप इसे facebook ,twitter ,watsapp पर share करे।
और आपको यह जानकारी कैसी लगी हमें comment करके जरूर बताये.

Gyan Shivbaba murli dwara.
www.pbks.info

यह भी जाने :-
*Dukh Kya Hai-Yaad se dukh hota hai to kya kare

*Kamyabi Ka RAasta -Chanakya

*Apne Indriyon Ko Kaise Control Kare

*Sharab Ke Nashe Ko Kaise Chore

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »