छोटे भाई को पत्र कैसे लिखे

छोटे भाई को पत्र कैसे लिखे

 नमस्कार दोस्तों Anek Roop में आपका स्वागत है। आज हम सीखेंगे की छोटे भाई को पत्र कैसे लिखे ? Chote bhai ko patra kaise likhe ?  छोटे भाई को पत्र लिखना एक बहुत महत्वपूर्ण टॉपिक है। जो हर वर्ष कक्षा 6-12 वीं तक के बच्चो को परीक्षा में लिखने को आता है। इसलिए इसे परीक्षा से पहले ही सीख लेना अत्यंत आवश्यक है ताकि हम अपना पहले से ही 10/15 अंक को सुरक्षित कर ले। 

आज हम कुछ विषयो पर छोटे भाई को पत्र लिखेंगे जैसे-  भाई को जन्मदिन पर बधाई पत्र कैसे लिखे ?, भाई को ज्यादा परिश्रम  करने की सलाह देते हुए पत्र, खेलकूद में भाग लेने की सलाह देते हुए भाई को पत्र आदि। 

छोटे भाई को पत्र कैसे लिखे
छोटे भाई को पत्र कैसे लिखे 


इस आर्टिकल में हम जानेंगे की-

  • पत्र लिखने की संरचना कुछ महत्वपूर्ण टिप्स के साथ 
  • छोटे भाई को जन्मदिन पर बधाई पत्र 
  • भाई को ज्यादा परिश्रम करने की सलाह देते हुए पत्र 
  • खेलकूद में भाग लेने की सलाह देते हुए भाई को पत्र 

पत्र लिखने की संरचना और कुछ महत्वपूर्ण टिप्स 


मुझे आपको यह बताते हुए बहुत ख़ुशी हो रही है की 'छोटे भाई को पत्र लिखना' यह सबसे आसान पत्र है। इसे लिखने के लिए आपको केवल कुछ बातो का ध्यान रखना पड़ेगा जो इस प्रकार है -
  • छोटे भाई को पत्र लिखना यह एक व्यक्तिगत पत्र है जो अनौपचारिक पत्र के अंतरगर्त आता है। 
  • पत्र की शुरुआत अपने 'पते से करे'
  • एक लाइन छोड़कर तिथि (Date) लिखे 
  • फिर अभिवादन लिखे जैसे - प्रिय सुमेश (-छोटे भाई को नाम)
  • जिस विषय में पत्र लिखना है उसे विस्तार से और समझाकर लिखे लेकिन शब्द सीमा का अवश्य ख्याल रखे 
  •  पत्र का समापन - तुम्हारा प्रिय/ शुभचिंतक भैया से कर सकते है। 
टिप्स:- अभिवादन और समापन के लिए किसी एक आसान शब्द को याद रखे। क्योंकि ज्यादा शब्दों को याद रखने से हमे परीक्षा के समय यह कन्फूशन होती है की इनमे से किसको लिखे या हमे याद ही नहीं आता है। इसलिए किसी एक शब्द को पहले से ही अलग लिखकर याद कर ले। 

परीक्षा में माताजी,पिताजी और बड़े भाई को भी पत्र लिखने के लिए आता है इसलिए यदि आप जानना चाहते है इन विषयों पर पत्र कैसे लिखे तो इन आर्टिकल्स को अवश्य पढ़े -

छोटे भाई को जन्मदिन पर बधाई पत्र 


पटना 

25 जुलाई 2021 

प्रिय सुमेश ,
आशा करता हूँ की तुम वहाँ स्वस्थ्य होंगे और अपने जन्मदिन पर खूब मजे कर रहे होंगे। मेरी तरफ से भी तुम्हे तुम्हारी 15वीं  जन्मदिवस पर जन्मदिन की ढेरो सारी शुभकामनाए।

तुम्हारी इस जन्मदिन को और मज़ेदार बनाने के लिए मैं मेरी दृढ़इच्छा थी की मैं वहां आउ पर अफ़सोस मुझे यहाँ मेरे कामो से छुट्टी न मिल पाने की वजह से मैं वहां आ नहीं पाया। मुझे मालूम है की तुम मुझसे नाराज हो पर नाराज़ होने की कोई जरुरत नहीं अगली बार मैं अवश्य आऊंगा। 

बस तुम अपने जन्मदिन को पूरी धूमधाम से मनाओ दोस्तों के साथ मस्ती करो क्योंकि यही वह समय है मस्ती के साथ-साथ अपने पढाई को जारी रखने की। मुझे उम्मीद है की तुम अपने आने वाले बोर्ड एग्जाम की तैयारी भी अच्छी तरह से कर रहे होंगे। 

मैंने जो उपहार तुम्हे भेजा है उसे देखकर मुझे अवश्य यह बताना की तुम्हे यह कैसा लगा। 

तुम्हारा शुभचिंतक भैया 
          राहुल 

आप इस पत्र का फोटो भी प्राप्त कर सकते है।



छोटे भाई को पत्र कैसे लिखे
छोटे भाई को जन्मदिन पर बधाई पत्र 



भाई को ज्यादा परिश्रम करने की सलाह देते हुए पत्र 


रांची 

15 अगस्त 2021 

प्रिय राज, 
हाल ही में तुम्हारा प्रिय मित्र सहवाग का पत्र मुझे आया। जब मैंने उस पत्र को पढ़ा तो मानो मुझे एक झटका सा लगा। जानकर बहुत दुखी हुई की आजकल तुम अपना ध्यान पढाई पर केंद्रित करने के बजाय किन्ही आवारा लड़को के चक्कर में कुछ अलग ही गुल खिला रहे हो। मुझे तुमसे यह उम्मीद बिलकुल नहीं थी। 

आने वाले चार महीनो के बाद तुम्हारी बोर्ड की परीक्षा है। और तुम यदि ऐसे अपना समय व्यर्थ करोगे तो बोर्ड की परीक्षा कैसे पास कर पाओगे। हमारे माता-पिता और मुझे भी तुमसे यह बहुत उम्मीद है की तुम इस परीक्षा को अच्छे से पास करोगे और अपना नामांकन किसी अच्छे से कॉलेज में कराओगे।    

यदि तुम अपना विद्यार्थी जीवन ऐसे ख़राब करोगे तो तुम्हारा आना वाला समय बहुत ही अंधकारमयी होगा। क्योंकि आज के समय में जो युवा शिक्षित नहीं है उसकी समाज में कही मन-मर्यादा नहीं है। समाज की बात तो छोड़ो यदि ऐसा चलता रहा तो आगे चलकर खाने के भी लाले पड़ सकते है। 

इसलिए मेरी राय मानो और परिश्रम करो। "यदि तुम अभी समय को सम्मान करोगे तो आगे चलकर समय तुम्हारा सम्मान करेगा।"

तुम्हारा शुभचिंतक भैया 
          अशोक 

इसे भी पढ़े-
आप इस पत्र का फोटो भी प्राप्त कर सकते है। 


chote bhai ko patra kaise likhe
भाई को ज्यादा परिश्रम करने की सलाह देते हुए पत्र 


खेलकूद में भाग लेने की सलाह देते हुए भाई को पत्र 


दिल्ली 

25 अक्टूबर 2021 

प्रिय संजय, 
अभी हाल ही में मुझे सुमित का पत्र मिला और यह जानकर मैं काफी नाराज हुआ की तुम अपनी बोर्ड की परीक्षा के लिए इतने गंभीर हो गए हो अपने कमरे से बाहर की बात तो दूर मेस में सही समय पर खाना खाने भी नहीं जाते हो।

यह अच्छी बात है की तुम जमकर अपने परीक्षा की तयारी में लगे हुए हो। पर इस बात से भी इंकार नहीं किया जा सकता है की हर वक्त पढाई करते रहने से हर वक्त किताबी कीड़ा बने रहने से परीक्षा में अच्छे अंक नहीं आ पाएंगे। 

यदि तुम वास्तव में परीक्षा में अच्छे अंक हाशिल करना चाहते हो तो तुम्हे पढाई के अलावा और भी क्रियाकर्मों जैसे खेल-कूद में शामिल होना आवश्यक है। क्योंकि खेलकूद से हमारा मन फ्रेश होता है और हमारा स्वस्थ भी ठीक रहता है। और जब तक हमारा मन फ्रेश और शरीर स्वास्थ्य नहीं रहेंगे तब तक हम 8 घंटे पढाई क्यों न कर ले उससे कुछ हाशिल नहीं होने वाला है। 

जो अध्याय का अध्याय का अध्ययन हम 5 घंटे में करते है खेलकूद के जरिये हम उसी अध्याय को 2-3 घंटे के अंदर हम कर लेंगे। इस विधि को मैंने खुद अपनाया है। ऐसा इसलिए होता है क्यूंकि खेलकूद से हमारा पढाई का अवसाद (Depression) काफी कम हो जाता है और हमारे दिमाग को कम समय में ज्यादा धारण करने की क्षमता आ जाती है। मुझे उम्मीद है की तुम्हे मेरी बात समझ आ गई होगी और अब से पढाई के अलावा खेलकूद पर थोड़ा ध्यान देना शुरू करोगे। 

तुम्हारा प्रिय भैया 
     नितेश 

इसे भी पढ़े-

आप इस पत्र का फोटो भी प्राप्त कर सकते है। 

छोटे भाई को पत्र कैसे लिखे
खेलकूद में भाग लेने की सलाह देते हुए पत्र 



आशा करता हूँ आपको छोटे भाई को पत्र कैसे लिखे से सम्बंधित सम्बंधित सभी प्रश्न समाप्त हो गए होंगे। पर यदि अभी कोई प्रश्न आपके मन में है तो उसे  कमेंट बॉक्स में बेझिझक पूछे। 

यदि आपको यह आर्टिकल पसंद आया तो इसे अपने दोस्तों के साथ अवश्य शेयर करे। 
धन्यवाद!