ATM Card Ke Bare Mein Puri Jankari


नमस्कार दोस्तों आपका AnekRoop में स्वागत है। आज हम जानेंगे ATM के बारे में। ATM से हम क्या-क्या कर सकते हैं ? ATM का उपयोग कहाँ - कहाँ होता है ? ATM का उपयोग हम कैसे करेंगे ? कौन सा ATM हमारे लिए फायदेमंद होगा ? ATM के क्या-क्या फायदे हैं और क्या-क्या नुकसान है ? ATM का उपयोग कब से बैंको में होने लगा ? ATM का इतिहास क्या था और भविष्य इसका कैसा होगा ? और भी बोहोत कुछ नया जानेंगे ATM के बारे में जो आपने कही नहीं सुनी होगी।

atm ke bare me jankari
atm ke bare me jankari
.
ATM के बारे में जानकारी।

ATM का full form होता है:- Automated Teller Machine.
 हिंदी में इसे:-
Automated -स्वचालित
Teller        - गणना करने वाला ( जैसे -Calculator )
Machine   - यंत्र

ATM को Debit Card भी कहते हैं क्योंकि इससे पैसे निकाले जाते हैं। Debit का मतलब होता है निकालना तो इसे लोग पैसे निकालने वाला कार्ड भी कहते हैं। तो ये थी ATM के बारे में बाहरी जानकारी।

अब चलिए हम इसके अंदरूनी जानकारी को जानते है :-

ATM Card के बारे में जानकारी

atm card ki photo
atm card ki photo
जैसा की आप ऊपर में दिए फोटो में देख सकते हैं कि numbering 1 से 6 तक किया हुवा है जिसकी जानकारी कुछ इस प्रकार है ;-

1. यहां पर chip रहता है , जिससे की atm के द्वारा कितने transaction हुवे, कहाँ-कहाँ हुवे हैं ,atm का owner कौन है ,atm से mobile no लिंक है कि नहीं इत्यादि जैसे data स्टोर होते हैं। आसान भाषा में उस atm की पूरी जानकारी उस chip में स्टोर होती है।

2. बैंक का नाम :- जिस बैंक का atm होगा उस बैंक का नाम यहां पर होता है। जैसे BOI , SBI
3. ATM का number :- यहाँ पर ATM का नंबर होता है। हरेक ATM का अलग-अलग नंबर होता है। यह नंबर बोहोत जगहों में काम आते हैं जैसे- online shopping में , atm card बंद करने या renewal करने में इत्यादि।

ATM नंबर के जो first 4 digit होते हैं , जैसे -यहां पर 4000 है वो कंपनी के द्वारा बैंक के कोड होते हैं। यानि हरेक VISA SBI के ATM की सुरुवात 4591 से होगी , वैसे ही VISA BOI की सुरुवात 4598 से होगी।

4. ये ATM के expire यानि ख़त्म होने की date होती है , इस date के बाद आपका ATM काम करना बंद कर देता है। इसे आपको फिर से renewal करना होता है।


5. यहां पर ATM कार्ड धारक का नाम होता है। कई-कई ATM में नाम नहीं भी होता है , इसमें घबराने की बात नहीं है। इस नाम का उपयोग ज्यादातर online shopping करने में आती है।

6. यहां पर 2 चीज लिखा हुवा रह सकता है। For Use In India Only  या  Globally Use लिखा हुवा रह सकता है।For Use In India- जिसका मतलब होता है कि उस ATM का इस्तेमाल आप सिर्फ India तक ही कर सकते हैं और Globally Use जिसका मतलब होता है कि आप उस ATM का इस्तेमाल पूरी दुनिया में  कहीं भी कर सकते हैं।
आप अपने अनुसार सिर्फ India के लिए या globally के लिए ATM ले सकते हैं। यदि आप online काम करते हैं और Paypal जैसे websites या international websites के द्वारा shopping करना चाहते हैं तो आपको globally use वाला ATM लेना चाहिए।

तो ये थी जानकारी ATM के Front Part के बारे में। अब हम जानेंगे ATM के back part के बारे में।
atm back side image.


ऊपर जो फोटो दिया गया है वह ATM कार्ड का पीछे का हिस्सा है। जिसमे आपको 2 चीजों को जानना अहम है।
1. Black Surface - ATM Card के पीछे जो काला surface होता है वो electronic use के लिए होता है , जब आप ATM Card को मशीन में डालते हैं तो इसी black surface की वजह से वह मशीन आपके ATM को read कर पाता है। इसीलिए कभी भी इस काले surface को गन्दा ना करे और जब ATM कार्ड को मशीन नहीं स्वीकार कर रहा हो तो इस काले surface को कपडे से साफ़ करके डाले तो ये काम करने लगेगा।

2. CVV - Card Verification Value , जब आप internet से shopping करते हैं तो internet आपसे cvv नंबर मांगते है , ताकि वो आपके atm card को verify कर सके।
तो ये थी जानकारी atm card के बारे में , हम हम जानेंगे इससे जुडी कुछ महत्वपूर्ण जानकारियों के बारे में।


ATM का उपयोग कैसे करें ?

ATM का उपयोग लोग 2 चीजों के लिए करते हैं :-
1. ATM मशीन से पैसे निकालने के लिए ,
2. Shopping करने के लिए , Online Shopping के लिए , Bill Pay करने के लिए , Mobile Recharge करने के लिए इत्यादि।

ATM कार्ड से पैसे कैसे निकाले ?

यदि आप ATM मशीन से पैसे निकालना चाहते हैं तो उसके लिए आपको अपने नजदीकी एटीएम मशीन में जाना होगा।

  1. ATM कार्ड को मशीन के अंदर डाले - जिधर Chip है उस तरफ से डाले।
  2. फिर आपसे 4 digit का PIN माँगा जायेगा उसको डाले।
  3. और फिर last में कितना पैसा आपको निकालना है वो डाले।
तो इन 3 easy steps से आप किसी भी ATM मशीन से पैसे निकाल सकते हैं।




ATM कार्ड से Shopping कैसे करें ?

यदि आप ATM कार्ड से shopping करना चाहते हैं तो वो भी बोहोत आसान है।
Offline Shopping - बड़े-बड़े मॉल में लोग card से shopping करते हैं , जब payment देना होता है तो Swipe Machine जो की मॉल में होता है , उसमे अपना ATM swipe करके PIN देने के बाद कितना रूपया  Payment करना है उसको डालना होता है जिसके बाद payment, shopping मॉल के पास पहुँच जाती है।
तो इस तरह आप offline shopping कर पाते हैं।

Online Shopping - यदि आप अपने ATM कार्ड से online shopping करना चाहते हैं तो वो भी आप कर सकते हैं।

  • जैसे amazon से आपको कुछ खरीदना है तो आप उस product के ऊपर click करके buy के option में जाये।
  • फिर Pay through debit card के option को चुने।
  • फिर अपने ATM CARD के detail को भरे। जैसे - नाम , नंबर ,expiry date , cvv
  • इसके बाद registered mobile में एक OTP या आपके ATM का Pin माँगा जायेगा।  जिसको देने के बाद online shopping ATM के द्वारा हो जाएगी।



कौन सा ATM हमारे लिए फायदेमंद होगा ?

यदि आप India की बात करें तो यहां पर मुख्य 3 कंपनी की ATM ज्यादा चल रही है :-
VISA , Master Card , Rupay Card

ATM का सालाना charge कितना होता है ? और प्रतिदिन आप कितना पैसा निकाल सकते हैं ? ये बैंक decide करती है। हरेक बैंक के अपने-अपने charge हैं।
ATM के भी features होते हैं , जैसे -Visa Classic , Visa Gold , Visa Platinum, Visa Signature ,Visa Infinite

तो SBI में Classic ATM के लिए चाहे वो VISA हो , Master Card हो या Rupay हो , आपको सालाना 147 रुपये देने होते हैं (GST ले करके ), और daily का आप 20000 रुपये तक निकाल सकते हैं (इसे बैंक वाले घटा या बढ़ा भी सकते हैं) । जिसमे महीने में आप 3 transaction free कर सकते हैं जिसके बाद हरेक transaction के लिए आपसे 20 रुपये लिए जाते हैं।

अब तीनो कार्ड में अंतर क्या है ?

अंतर है , कि VISA और Master Card पुरे world में इस्तेमाल होते हैं वहीँ Rupay कार्ड सिर्फ भारत में ही इस्तेमाल होते हैं।
VISA और Master Card से आप international shopping कर सकते हैं।
वहीँ Rupay कार्ड आपको 1 लाख से 2 लाख तक का accidental , accidental disability or death . insurance देता है। जिसके लिए 90 दिनों में 1 transaction होना जरूरी है।

तो आप अपने अनुसार अपना मन पसंद ATM चुन सकते हैं जो आपके लिए उपयोगी हो।



ATM से फायदा या नुकसान।

ATM से हमें फायदा ही हुवा है। हमें बैंकों में line लगने की जरूरत नहीं होती। हम कभी भी पैसे निकाल पाते हैं , shopping कर पाते हैं। बिना cash के कहीं भी जा सकते हैं। पैसे चोरी होने का डर अब ख़त्म हो गया है। ऐसे बोहोत से फायदे हैं।

वहीँ नुकसान उनलोगों को हो रहा है जो इसे अच्छे से इस्तेमाल करना नहीं जानते हैं। fraud call आने पर atm की जानकारी दे देने से पैसे निकाल लिए जाते हैं जिसे cyber crime कहते हैं।
या ऐसे parents जो अपने atm को अच्छे से नहीं रखते तो बच्चे उनके atm से shopping कर लेते हैं और उन्हें पता भी नहीं चलता है। या फिर कुछ ऐसे लोग हैं जो atm होने पर बार-बार पैसे निकालते हैं और अधिक खर्च करते हैं। तो ऐसे लोगों का भी atm से नुकसान ही हो रहा है।


ATM का इतिहास और इसका भविष्य

Mr. Stepherd Barron ( London 1967 ) उसने देखा कि chocolate बार बेचने वाली मशीन , जिसमे आप पैसे डालते हैं और chocolate बाहर आता है। तो उन्होंने सोचा कि क्यों ना ऐसी मशीन बनाया जाय जो पैसे बाहर आये। तब उन्होंने इस idea से ATM का आविष्कार किया।

सबसे पहली ATM, 1967 में North London के Barclays Enfield Town में लगी जिसमे pin को paper के voucher में दे दिया जाता था जिससे लोग daily का 10 पाउंड यानि ( Rs. 927 ) निकाल पाते थे।

फिर इस ATM मशीन को और बेहतर बनाने के लिए लोग जुड़ गए , और 1970 में PIN की सुरुवात हुयी। PIN के आविष्कार के बाद ये बैंकों में इस्तेमाल के लायक बन चुकी थी। उसी साल 1000 ATM को New York में लगाया गया।

बैंकों में सबसे पहले ये Chemical Bank ने एक branch में लगायी थी (1969 में ) फिर PIN के अविष्कार के बाद ये पुरे सेहर में फ़ैल गयी। देखते ही देखते सभी बैंकों ने ATM लगाना शुरू कर दिया। और फिर 1977 में Citibank ने इसके model को और बेहतरीन बनाया जो 24 घंटे चल सकता था। और फिर Citibank ने 1980 में NCR 5070 ATM Model Launch किया जिससे दुनिया भर में इसका नाम होने लगा।

लोग ATM में जाना पसंद करने लगे और देखते ही देखते 4 सालों में 1 लाख नए ATM खुल गए और अब तक 40 लाख ATM पूरी दुनिया में खोली जा चुकी है।


भारत में ATM 1987 में आई। Mumbai HSBC के द्वारा जो एक British Bank है। देखते ही देखते 10 सालों में 1500 नए ATM खुल गए। फिर 2002 तक India Bank Association ने एक network बनाया जो 5 सालों तक चली फिर बैंकों ने अलग-अलग network बनाना शुरू किया - BOI , Union Bank , Indian Bank ने अपना खुद का network बनाया Cash Tree और बाकि बैंकों ने भी मिलकर अपना network बनाया।

लेकिन 2003 में (IDRBT -Institute of Development and Research in Banking Technology ) जो की RBI के द्वारा चलाया जाता है। इन्होने कहा कि देश में जितने भी ATM हैं उनको हम single network से connect करेंगे यानि कोई भी बैंक हो सबको एक ही network में जोड़ा जायेगा , जिससे कि कोई भी बैंक का व्यक्ति दूसरे बैंक के एटीएम से पैसे निकाल पायेगा।  जिसका नाम उन्होंने रखा ( NFS- National Financial Switch )

लेकिन भविष्य की बात करें आज से 10 साल के बाद , तो लोग कम ही ATM का इस्तेमाल करेंगे। सब mobile app का इस्तेमाल करना पसंद करेंगे। Cash की बोहोत कम ही जरूरत पड़ेगी।
लेकिन इसके लिए 10 से 15 साल लग ही जायेंगे। Cashless India की तरफ देश अभी बढ़ना शुरू ही हुवा है फिर भी ATM का उपयोग होते ही रहेगा इसका मुख्य कारन है Cash का होना। जबतक Cash बन रहे हैं तब तक ATM रहेंगे। जिस दिन सरकार पैसे छापना बंद कर देगी उस दिन से ATM का उपयोग भी बंद हो जायेगा।




तो दोस्तों ये थी ATM की पूरी जानकारी। एटीएम का उपयोग कैसे करना है उससे पैसे कैसे निकालना है, shopping कैसे करना है , कौन सा एटीएम अच्छा है , एटीएम से फायदा या नुकसान और इसका इतिहास।
मैं उम्मीद करता हूँ कि आपको यह जानकारी जरूर पसंद आई होगी।




यदि आपका कोई सवाल या कोई सुझाव है तो हमें comment करके जरूर बताये, ये post आपको कैसा लगा ये भी हमें बताये और हां इस पोस्ट को अपने दोस्तों तक share करना ना भूलें।
अपना महत्वपूर्ण समय देकर इस post को पढ़ने के लिए आपका बोहोत बोहोत धन्यवाद।

Interest Rate-ब्याज दर-Kya Hota Hai


नमस्कार दोस्तों आपका AnekRoop में स्वागत है। आज हम जानेंगे कि interest rate यानि ब्याज दर क्या होता है। आपने कई बार सुना होगा कि interest rate 2 % , 3 % तो ये interest rate क्या होती है ? और ये कहाँ - कहाँ इस्तेमाल होती है ? इसे हम कैसे calculate करते हैं ? और इसको जानना हरेक व्यक्ति के लिए जरूरी क्यों है ?
तो आज कुछ ख़ास , कुछ अलग आपके लिए हम लाये हैं जिसे पढ़कर आपको नई जानकारी मिलेगी।

interest rate kya hota hai
interest rate kya hota hai
.
Interest Rate ( ब्याज दर ) क्या होता है ?

आप इसे एक उदाहरण से समझिये :- 2 पडोसी हैं -रिंकी और पिंकी। रिंकी के घर अचानक मेहमान आ जाते हैं रिश्ते के लिए और नास्ते  के लिए उसके घर में पैसे नहीं होते है , तो वह पिंकी से पैसे मांगने के लिए जाती है।

रिंकी - पिंकी मुझे 500 रुपये दोगी क्या ? मेरे घर में कुछ मेहमान आये हैं ?
पिंकी - हां क्यों नहीं। लेकिन तुम्हे इसे लौटाना होगा।
रिंकी - हां लौटा दूंगी , मेरे पति के आते ही मैं तुम्हे लौटा दूंगी।
पिंकी - वो सब तो ठीक है लेकिन मेरे पास अभी कम पैसे हैं अगले सप्ते मुझे घर का किराया भी देना है। तो तुम कुछ पैसे बढ़ा कर दे पाओगी क्या ?
रिंकी - ठीक है अगले सप्ते मैं तुम्हे 550 रुपये दे दूंगी।

तो इस तरह पिंकी को 500 रुपये के 550 रुपये मिले , वो भी एक सप्ताह में।
इसमें आप देखें तो 50 रुपये ज्यादा मिले हैं , तो ये जो अधिक 50 रुपये हैं इसे ही हम interest कहते हैं यानि ब्याज कहते हैं।

वहीँ जो 50 रुपये हैं वो मूल पैसे के यानि 500 रुपयों के कितने भाग में बंटे हैं वह है rate of interest , यानि दर।
जैसे - यहां 50 रुपयों को कितने बराबर -बराबर हिस्से में बाँटेंगे तो 500 आएगा ? तो 50  रुपये 10 लोगों को देंगे तो 500 आ जायेंगे। तो यहां rate of interest हुवा 10 % . आप simply इसे भाग करके निकाल सकते हैं।

तो आप देख पा रहे होंगे कि interest (ब्याज ) अलग है और rate (दर ) अलग है। जब ये दोनों मिलते हैं तो इसे हम interest rate (ब्याज दर ) कहते हैं।
Interest हमेशा पैसों में होता है वहीँ इसका rate हमेशा percentage (%) में होता है।

ये भी जाने :-


Interest Rate (ब्याज दर ) कैसे Calculate करते हैं ?

Interest Rate Calculate करने के लिए आपको सिर्फ भाग देना होता है।
ऊपर दिए गए उदाहरण का यदि आप interest rate निकालना चाहे तो वो कुछ इस प्रकार होगा :-
interest rate = मूल रुपये / सुध रुपये
                   = 500 /50  = 10 %

तो देखा ये कितना आसान है , आप इसे आसानी से निकाल सकते हैं।
अब जब भी कोई आपसे कहे कि इसका ब्याज 3% है, 4 % है तो आप समझ सकते हैं कि ये मूल पैसा और सुध पैसे को भाग करके आया है।


Interest Rate (%) से ब्याज (interest-Rs  ) कैसे calculate करते हैं।

इसको हम एक उदाहरण से समझाते हैं :- यदि आपको bike की जरूरत पड़ती है और दूकान के लोग कहते हैं कि 20000 रुपये आपको मूल (अभी ) देना होगा और बाकि के 40000 आप क़िस्त में दे सकते हैं जिसका ब्याज हम 10 % लेंगे आप इसे 2 साल में भर सकते हैं।

तो यहां पर आप देखेंगे कि यदि आप 2 साल तक पैसे जमा करते हैं तो आपको हरेक महीने कितने पैसे देने होंगे ? और मूल पैसों ( 20000+40000 ) का आपको कितना पैसा ज्यादा लगेगा ? आप यहां साफ़-साफ़ देख पा रहे हैं कि हमें ब्याज निकालने को कहा जा रहा है। यानि extra पैसा हमें और कितना लगेगा।

मान लीजिये कि आपको कोई interest नहीं देना है तो बैंक को हर महीने आप कितने पैसे देते ?
बाकि पैसा / समय = 40000 /24 महीने = Rs. 1666 हर महीने आपको देने पड़ते।

अब यदि आप interest के साथ पैसे देते हैं तो आपको कितने पैसे देने होंगे ?
Interest = 10 % of 40000 = 10 /100 * 40000 = 4000
यानि 2 सालों में आपको 4000 अधिक रुपये देने होंगे। इसे यदि महीने में आप देखें तो आप इसे महीने से भाग कर सकते हैं :- 4000 / 24  = 166

यानि महीने में आपको 166 रुपये अधिक देने होंगे जो आपको 1666 देना था तो 10 % ब्याज के कारन आपको
( 1666 + 166 = 1832 रुपये ) देने होंगे।

तो इस तरह आप interest rate से interest निकाल सकते हैं।



Interest Rate (ब्याज दर ) का इस्तेमाल कहाँ-कहाँ होता है ?

यह बेहद जरूरी जानकारी है , जिसे हर व्यक्ति को जानना चाहिए , यह हमारे ज़िन्दगी के हर क्षेत्र में उपयोगी है :-
जैसे :- बैंकों में  ( बैंक खाते में ,लोन में , फिक्स deposit में इत्यादि )
जब किसी वस्तु को आप EMI में खरीदते हैं, स्कूल के fee में , शॉपिंग में , tax pay करने में, bills देने में -बिजली बिल , पानी का bill , holding tax  इत्यादि।
आप कहे कि जहां पैसों का लेन-देन होता है वहाँ interest rate उपयोगी है , बिना interest rate के कोई भी कारोबार और किसी भी तरह का लेन-देन नहीं हो सकता है।

Interest Rate निकालने का आसान तरीका

अब हर समय तो आप calculation नहीं कर सकते तो इसका एक trick हमेशा याद रखे कि जब भी कोई बोले कि इस वस्तु का मैं 20 % दूंगा तो आप तुरंत बिना time waste किये 20 /100 कर दीजिये।
जैसे कोई बोले मैं ये मोबाइल 20 % कम में बेच रहा हूँ तो तुरंत 20 / 100 कर दें। फिर वो बोलेगा की इसकी कीमत 5000 थी तो आप तुरंत calculate कर सकते हैं 20 /100 *5000 = 1000 यानि 1000 कम में बेचेगा तो 4000 रुपये हुवे। तो ये आसान सा trick आप याद रखें।

तो दोस्तों ये थी जानकारी interest rate निकालने के लिए। मैं उम्मीद करता हूँ कि आपको यह जानकारी जरूर पसंद आई होगी  , यदि आपका कोई सवाल या कोई सुझाव है तो हमें comment करके जरूर बताये।




और इस post को अपने दोस्तों तक जरूर शेयर करे।
अपना महत्वपूर्ण समय देकर इस post को पढ़ने के लिए आपका बोहोत-बोहोत धन्यवाद। 

विधायक MLA को जल संकट के सम्बन्ध में पत्र Application लिखे


नमस्कार दोस्तों आपका AnekRoop में स्वागत है। आज हम पत्र और application लिखेंगे विधायक को और जानेंगे कि किस तरह हम विधायक को application देकर अपना काम करवा सकते हैं और कैसे हम अपना application उनतक पहुंचा सकते है।
आप जिस भी गांव , शहर में रहते हो यदि आप अपने विधायक को पत्र या application लिखना चाहते हैं तो आप इस post को जरूर अंत पढ़े आपको जरूर मदद मिलेगा यदि आप किसी और विषय पर application चाहते हैं तो वो भी हमें comment करके बताये हम आपके लिए जरूर लिखेंगे।

vidhayak ko patra application likhe
vidhayak ko patra application likhe
.
विधायक को Application लिखे जल संकट के विषय पर।

सेवा में ,
माननीय विधायक जी।
कतरास  ( झारखण्ड )
विषय :- जल संकट से हो रही अत्यधिक दुःख /परेशानी होने पर।
मान्यवर ,
                सविनय निवेदन है कि हम लोयाबाद के निवासी हैं हम बोहोत उम्मीद से आपको यह दरखास्त लिख रहे हैं कि हम पिछले 3 सालों से जल संकट से घिरे हैं हमें घर के उपयोग हेतु जल के लिए 2 km दूर सेंदरा जाना पड़ता है। पिने के लिए पानी तक हमें खरीद करके पीना पड़ता है। पुरे दिन का 2 घंटा सिर्फ पानी भरने में चला जाता है और कहीं पानी भरने वाला व्यक्ति बीमार हो जाता है तो उसके घर में जैसे दुखों का पहाड़ टूट पड़ता है उसे दूसरे घरों से पानी मांगकर घर चलाना पड़ता है।

नगर निगम होते हुवे भी हमें पानी के लिए कोई सुविधा नहीं दी जा रही है पिछले 3 सालों से कोई भी पानी का श्रोत हमारे नगर तक नहीं पहुँच पाया है। हम हर साल होल्डिंग टैक्स भरते हैं पानी का टैक्स भरते हैं फिर भी हमारे ऊपर किसी की नज़र नहीं जाती है। हम अकेले और बेसहारे महसूस करते हैं। हमारा अंतिम सहारा अब आप ही बचे हो , हम नगर वासियों को आपके ऊपर बोहोत सारी उम्मीदें है।

अतः आपसे निवेदन है कि नगर की सभी परेशानियों को दूर करते हुवे आप हमारे इस जल संकट को जल्द से जल्द दूर करने के लिए एक जल निर्माण का आयोजन करें जिसके लिए हम नगरवासी सदैव आपके आभारी रहेंगे।

सधन्यवाद।
लोयाबाद नगर निवासी।
दिनांक -
नगर के सभी लोगों के हस्ताक्षर -

आप इस application का फोटो भी प्राप्त कर सकते हैं।

jal sankat, jal aapurti ke liye application.



विधायक को पत्र लिखे जल संकट के सम्बन्ध में।

माननीय विधायक जी।
कतरास (झारखण्ड )
सादर प्रणाम ,
                        हम लोयाबाद निवासी आपका ध्यान हमारे नगर में हो रही जल संकट के ऊपर केंद्रित करना चाहते हैं ,यहां हर रोज हमें 2 km दूर पानी लाने के लिए सेंदरा जाना पड़ता है। नगर के सभी परिवारों का दैनिक जीवन अश्त-पश्त हो चूका है। घर में उपयोग करने का पानी तक हम नहीं जुटा पा रहे हैं तो पिने की पानी की दूर की बात है। खेती करने वाले किसान घर में हाथ-में -हाथ धरे बैठे हैं , कई किसान तो खेती ना होने की वजह से दूर शहरों में या अपने -अपने गाओं में जा चुके हैं।

यदि ऐसी ही परिस्थिति रही तो हमें भी लोयाबाद नगर छोड़कर जाना पड़ेगा , यह अंतिम गुजारिश हम आपसे कर रहे हैं हमने जल संकट को लेकर कई आंदोलन किये लेकिन उसका असर अभी तक नहीं दिखा है। जीवन जीने के लिए जितनी जल की आवश्यकता होती है उतनी भी यदि आप मुहैया करा पाए तो हम नगरवासी सदैव आपके आभारी रहेंगे।

3 साल से कोई भी पानी का श्रोत हमारे नगर तक नहीं पहुंचा है , गड़ेरिया और मैथन का पानी अभी तक हमारे नगर तक नहीं पहुँच पाया है , गड़ेरिया वॉटर बोर्ड तो बंद भी हो चूका है। यदि अभी कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया तो आने वाले दिनों में जल के लिए मारा-मारी की नौबत तक आ सकती है।

इसलिए मैं यह पत्र आपतक लिख रहा हूँ , यह गंभीर मुद्दा नगर के सभी लोगों से जुड़ा है और 6 महीनों में इलेक्शन भी होने वाले हैं यदि जल का ये संकट नहीं दूर हुवा हो हम नगरवासी किसी को भी वोट नहीं देंगे और वोट का बहिस्कार करेंगे और यदि यह संकट दूर हो गया तो हम सदैव आपके आभारी रहेंगे और आपको ही वोट देंगे।

सधन्यवाद।
लोयाबाद नगरवासी।
दिनांक -
नगर प्रमुख के हस्ताक्षर -


विधायक MLA तक अपना पत्र या application कैसे पहुंचाए।

आपको तो पता ही होगा कि विधायक का काम schedule रहता है उसको किसी के लिए भी समय नहीं रहता उससे मिलने के लिए पहले से appointment लेना होता है वो भी मिले ना मिले कोई guarantee नहीं है।
ऐसे में यदि आप अकेले विधायक से मिलना चाहेंगे तो उम्मीद कम है। इसीलिए विधायक से मिलने के लिए कम से कम 10 लोग तो जरूर लेकर के जाये ताकि उन्हें भी लगे कि कोई बड़ा मुद्दा है।

और दूसरा उपाय है कि किसी प्रमुख व्यक्ति के साथ जाये जैसे - GM , MO , DM इत्यादि यदि आपकी पहचान है तो यदि पहचान नहीं है तो कोई बात नहीं। आप कुछ चीजें और कर सकते हैं।

जब लगे कि विधायक जान मुच  कर आपको अनदेखा कर रहा है या आपकी बात नहीं सुन रहा है तब आंदोलन का विकल्प बचता है , नारेबाजी का विकल्प बचता है। मुर्दाबाद ,हाय -हाय , धरना प्रदर्शन इत्यादि।

विधायक को पत्र पहुँचाने का कोई online जरिया नहीं है लेकिन यदि आपका विधायक आपकी मदद नहीं कर रहा हो तो आप उसकी शिकायत राज्य के मुख्यमंत्री (chief minister ) तक कर सकते हैं। आप उनतक online या offline दोनों तरीकों से application लिख सकते हैं जिसकी जानकारी नीचे दी गयी है।

Chief Minister Ko Application Likhe-Apni Baat Pahunchaye

विधायक से अपना काम कैसे करवाए ?

यदि आपकी परेशानी सुलझाने योग्य है और विधायक नहीं सुलझा रहा हो या उसे सुलझाने के लिए बहाना कर रहा हो , तो ऐसी स्थिति में आप कैसे उनसे अपना काम करवाएंगे ?

आपको पता होना चाहिए कि नेता लोग अवसरवादी होते हैं इन्हे जनता के बिच जाने का , उसे लुभाने का उसे अपने तरफ करने का मौका चाहिए होता है तो आपको भी कुछ ऐसा ही करना है।
अपने गांव या नगर के प्रोग्राम में इन्हे निमंत्रण दीजिये जैसे - मेले में ,फुटबाल मैच में , किसी बड़े त्यौहार में। जिसमे भीड़ ज्यादा होती हो। ऐसे ही आप उनसे मित्रता करके अपना काम करवा सकते हैं।

दूसरी चीज जो आप कर सकते हैं जैसा मैंने अपने पत्र में लिखा है कि हम वोट का विद्रोह करेंगे तो ऐसे ही आप उनतक पत्र लिखकर या आंदोलन करके अपना काम करवा सकते हैं।

पहले आप सीधे -सीधे बात करके अपना काम करवाने की कोशिश करे। > फिर मित्रता करके > और अंत में जब कोई सहारा ना बचता हो तो फिर आंदोलन करके।

विधायक हो या मुख्यमंत्री हो आपने उनको चुना है ,तो आपके लिए काम करते हैं इसीलिए आपका पूरा -पूरा हक़ बनता है कि आप उनसे सवाल करें आप उनसे अपना काम करवाए। प्रजातंत्र में प्रजा राजा होती है और जितने भी नेता होते हैं वो मंत्री होते हैं तो यहाँ वही होता है जो राजा चाहती है यानि जो आप चाहते हैं।

तो दोस्तों यह थी जानकारी कि कैसे आप अपने विधायक को  application या पत्र लिखेंगे और कैसे उनतक अपना application पहुंचाएंगे। और जल संकट के लिए भी हम कैसे application लिखेंगे। तो मैं उम्मीद करता हूँ कि आपको यह जानकारी जरूर मदद करेगी।


यदि आपका कोई सवाल या कोई सुझाव है तो हमें comment करके जरूर बताये। आप इस post को अपने दोस्तों तक , परिवार के लोगों तक जरूर share करें ताकि वे भी जागरूक हो सकें।
अपना महत्वपूर्ण समय देकर इस post को पढ़ने के लिए आपका बोहोत-बोहोत धन्यवाद।

Atal Pension Yojana-APY-Band Kare-Application


नमस्कार दोस्तों आपका AnekRoop में स्वागत है। आज हम application लिखेंगे अटल पेंशन योजना को बंद करने के लिए और यह भी जानेंगे कि यह कैसे बंद होगा और इससे सम्बंधित कुछ अन्य जानकारियां भी जानेंगे।
अटल पेंशन योजना लोग क्यों बंद करा रहे हैं ? इसमें क्या दिक्कते आ रही है ? इसमें हमें क्या नुकसान हो रहा है?  इसके ऊपर आज का ये post होने वाला है। तो इस पोस्ट को आप जरूर अंत तक पढ़े और किसी अन्य विषय पर application या जानकारी चाहते हैं तो हमें comment करके बताये।

atal pention yojana kaise band kare
atal pention yojana kaise band kare
.
अटल पेंशन योजना लोग क्यों बंद करा रहे हैं ?

लोग क्यों अटल पेंशन योजना को बंद कर रहे हैं इसको जानने से पहले आपको अटल पेंशन योजना को जानना चाहिए जिसका लिंक मैंने निचे दे दिया है।
Atal Pention Yojana in Hindi

अटल पेंशन योजना को बंद करने का सबसे मुख्य कारन जो आ रहा है वह है इसकी लम्बी समय सिमा। कम से कम लोगों को 20 सालों तक पैसे के लिए इंतेज़ार करना होगा। और इस हिसाब से देखें तो रूपया का वैल्यू 20 सालों में क्या होगा इसका अंदाज़ा आप खुद लगा सकते हैं।
20 साल पहले 1 लाख रुपये की वैल्यू कितनी ज्यादा थी वहीँ आज 1 लाख रुपये ज्यादा मायने नहीं रखते। वैसे ही आप जो पैसे अभी जमा कर रहे हैं उसकी value 20 साल के बाद बोहोत ज्यादा होनी चाहिए लेकिन इस योजना के तहत उतने पैसे आपको नहीं दिए जायेंगे।

अटल पेंशन योजना के तहत 5000 रुपयों तक का पेंशन देने का प्रावधान है तो हो सकता है कि 20 सालों के बाद 5000 रुपयों का कोई मोल ही ना हो। जिस हिसाब से जनसँख्या बढ़ रही है और आपूर्ति कम हो रही है उस हिसाब से 20 सालों के बाद 5000 रुपये आज के 100 रुपये के बराबर होंगे।
तो यह मुख्य कारन है कि लोग इस योजना को बंद करना चाहते हैं।

और दूसरी समस्या लोगों को आ रही है कि लोगों के पास पैसों की कमी हो रही है। लोग उलझन में पड़ रहे हैं, महीने के 400 -500 रुपये इतने लम्बे समय तक देना नहीं चाहते , इतनी महंगाई में अपनी saving से 500 रुपये बचाना भी लोगों को मुश्किल हो रही है।

और तीसरी जो वजह है वह है बैंकों का बुरा हाल। आप PMC Bank के बारे में सुने ही होंगे। आज कोई भी कंपनी लम्बे समय तक business नहीं कर पा रही है। हरेक दिन नई invention हो रही है , नए मशीन बन रहे हैं। तो कौन कंपनी कब डूब जाये और कौन कंपनी कब आगे बढ़ जाये इसकी कोई guarantee नहीं है। लेकिन इसमें बैंकों का बोहोत घाटा होता है। बैंक जो लोन देती है कंपनी को वह लोन वह वसूल नहीं कर पाती जिससे की बैंक का पैसा या कहें हमारा पैसा डूब जाता है।

और एक अजीब नियम इस योजना के तहत है कि यदि आप tax pay करने लगे यानि सालाना कमाई आपकी अधिक हो जाये या आपको कोई सरकारी नौकरी लग जाये तो आपको इस योजना के तहत कोई लाभ नहीं मिलेगा। अब 20 साल तक कोई व्यक्ति गरीब तो नहीं रह सकता है ना।

तो ये कुछ मुख्य कारन है, मुख्य नुकसान है जिसके चलती लोग जल्दी-जल्दी अटल पेंशन योजना बंद करना चाहते हैं।


अटल पेंशन योजना को कैसे बंद करें ?

अटल पेंशन योजना को आप बैंक में जाकर बंद कर सकते हैं।
इसके लिए आपको बैंक से एक form लेना है।आप form online भी download कर सकते हैं।
Atal Pention Yojana Closing Form Download

और एक application भी देनी होती है। जो की मैंने नीचे लिख दिया है।
साथ में अपना Passbook का ज़ेरोक्स और Aadhar Card का ज़ेरोक्स भी लेकर के जाये।

जब आप form को भरेंगे तो आपसे PRAN नंबर माँगा जायेगा। आप PRAN नंबर online निकाल सकते हैं।



Online PRAN नंबर निकाले। 
सबसे पहले आप इस webstie में जाये। npslite-nsdl.com
फिर सबसे last option APY/NPSlite ePRAN Sot View for Subscriber पर click करें।
बाकि के process को आप एक image के द्वारा देख सकते हैं।

pran number pata kare atal pention yojana.


Submit करने के पहले आप Captcha कोड जरूर fill कर ले।
और फिर आपको आपका PRAN नंबर यानि Permanent Retirement Account Number दिखाई देगा।

Atal Pension Yojana बंद करने के लिए Application

सेवा में ,                                                                                                             
                 श्रीमान शाखा प्रबंधक 
                 (स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया , पटना  )
                 विषय - अटल पेंशन योजना बंद करने हेतु । 
                 महाशय ,
                                सविनय निवेदन है कि मैं (अपना नाम लिखे ) आपके बैंक का एक खाताधारी हूँ। मैंने 1 साल पहले अटल पेंशन योजना की सुरुवात की थी। जिसमे हरेक महीने 376 रुपये मेरे बैंक खाते से काटे जाते हैं। बोहोत लम्बी समय सिमा होने की वजह से मैं इसे बंद करना चाहता हूँ।

अतः आपसे निवेदन है कि मेरे बैंक खाते से इस योजना को बंद कर दें। और मेरे जमा राशि को मेरे बैंक खाते में जल्द से जल्द जमा करा दे। इसके लिए मैं सदा आपका आभारी रहूँगा।


   आपका विश्वासी। 
   नाम             - (अपना नाम लिखे )
अकाउंट  नंबर - 
    मो               - (मोबाइल no  )
 दिनांक           - (              )
     (Sign करें )

Note :- यदि आप किसी अन्य कारन की वजह पर application लिखना चाहते है तो वो अपने अनुसार लिख सकते हैं। जैसे - मेरी नौकरी रेलवे विभाग में होने की वजह से , मेरी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने की वजह से इत्यादि।
आप इस application का फोटो भी प्राप्त कर सकते हैं।

atal pention yojana band karne ke liye application.


तो दोस्तों यह थी जानकारी कि कैसे आप अटल पेंशन योजना को बंद करेंगे , इसके क्या-क्या नुकसान है , PRAN नंबर कैसे पता करेंगे और अटल पेंशन योजना को बंद करने के लिए application कैसे लिखेंगे।
तो मैं उम्मीद करता हूँ कि आपको यह जानकारी जरूर पसंद आयी होगी। यदि आपका कोई सवाल या कोई सुझाव है तो हमें comment करके जरूर बताये।


और इस post को अपने दोस्तों तक जरूर शेयर करे ताकि और लोगों को भी मदद पहुँच सके।
अपना महत्वपूर्ण समय देकर इस post को पढ़ने के लिए आपका बोहोत-बोहोत धन्यवाद। 

Life Certificate Jama Kare-Pention Renewal Kare


नमस्कार दोस्तों आपका AnekRoop में स्वागत है। आज हम बात करेंगे Pention के बारे में। Life Certificate जमा करने के बारे में और यह भी जानेंगे कि घर बैठे हम कैसे अपना life certificate जमा कर सकते हैं और बैंक में जाके भी कैसे life certificate जमा करते हैं ? इसके लिए हमें किन-किन चीजों की जरूरत होती है और ये हमें कहाँ से मिलेगी ये भी जानेंगे।
                                                    तो समय को ना बरबाद करते हुए चलिए हम जानते है Pention Renewal के बारे में।

life certificate jama kare
life certificate jama kare
.
Pention Renewal क्या है ?

यदि आप अपना retirement ले चुके हैं और आपको पेंशन मिलता है तो सरकार के निर्देशानुसार हरेक साल आपको अपना life certificate जमा कराना होगा।
इसका मतलब है कि आप जीवित है इसका प्रमाण आपको हरेक साल देना होगा। इसे ही हम life certificate कहते हैं। और इसके बाद फिर आपको पेंशन मिलना चालू हो जाता है जिसे pention renewal कहते हैं।

Life Certificate कैसे जमा करे ?

आप अपना life certificate घर बैठे या फिर अपने बैंक में जाकर भी जमा कर सकते हैं।
यदि आप घर बैठे अपना life certificate जमा करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको biometric fingerprint scanner खरीदना होगा जिससे की आप घर में ही अंगूठा देकर online ही अपने जीवन का प्रमाण दे पाएंगे।

और यदि आप बैंक में जाकर अपना life certificate जमा करना चाहते हैं तो वो भी आप कर सकते हैं उसके लिए आपको
life certificate का ज़ेरोक्स  ,
1 passport size photo ,
आधार कार्ड का ज़ेरोक्स
और life certificate का फॉर्म जो आपको बैंक से मिल जाएगी।

अब इसको जमा करने पर तुरंत ही आपका pention renewal हो जाता है।

Ye Bhi Jane :-


घर बैठे online life certificate कैसे जमा करें ?

सबसे पहले आप इस website में जाइये jeevanpramaan.gov.in
फिर यहाँ से आप life certificate का मोबाइल App download कर लें। आप कंप्यूटर के लिए software भी download कर सकते हैं। इसके लिए आपसे email माँगा जायेगा।
इसके बाद आपको RD service download करना है , ये आपके अंगूठे के निसान को लेने के लिए होती है।


  • इनको डाउनलोड करने के बाद आपको अब  App को फिर से खोलना है। 
  • इसमें सबसे पहले आपको Registration करना है। जिसके लिए आपको अपना email , आधार कार्ड नंबर और मोबाइल का नंबर देना होता है।
  •  दिए गए मोबाइल नंबर पर OTP आएगा , उसको डालने के बाद आपको अपना नाम लिखना है। 
  • फिर अपना biometric fingerprint (otg cable ) के मदद से मोबाइल से connect कर ले। आप इसे पहले भी connect करके रख सकते हैं। 
  • इसमें आपको अपना अंगूठा देकर registration को पूरा करना होता है। 

(Registration आपको सिर्फ एक बार ही करना होता है। )



  • Registration हो जाने के बाद अब life certificate जमा करने की प्रक्रिया start होती है। 
  • उसके लिए pentioner का मोबाइल नंबर ,आधार कार्ड का नंबर और चाहे तो email भी दे सकते हैं। 
  • इसके बाद एक OTP आपके दिए मोबाइल नंबर पर आएगा। उसको देने के बाद अब आपको life certificate form भरना है।  जिसके लिए PPO Number , Bank Account No, जैसी जानकारियों को भरना होता है। 
  • इसके बाद biometric scanner पे अपनी उंगली रखकर प्रक्रिया को पूरा करना होता है। यदि उंगली की निसान match नहीं हो पा रही है तो आप अपने आँखों को भी scan कर सकते हैं। 


और बस हो गया आपका life certificate जमा वो भी घर बैठे।
यदि आपके पास biometric scanner और otg cable नहीं है तो इसे आप amazon से खरीद सकते हैं। जिसका लिंक मैंने निचे दे दिया है। इसकी कीमत 2 से 3 हज़ार से बीच में होती है।



Note :- 
Life Certificate हरेक साल नवंबर के महीने में जमा किया जाता है।
online life certificate जमा करने के लिए आधार कार्ड बैंक account से लिंक होना जरूरी है।
बैंक में जाकर जमा करने के लिए life certificate फॉर्म की जरूरत होती है जो आपको बैंक से मिल जाएगी। आप इसे नीचे से भी देख सकते है। इसका लिंक मैंने नीचे दे दिया है।
Life Certificate Form

तो दोस्तों यह थी जानकारी कि online और बैंक द्वारा आप life certificate जमा करके अपना pention कैसे renewal करते हैं। मैं उम्मीद करता हूँ कि आपको यह जानकारी जरूर पसंद आई होगी। यदि आपका कोई सवाल या कोई सुझाव है तो हमें comment करके बताये।


और इस पोस्ट को अपने दोस्तों तक जरूर शेयर करें।
अपना महत्वपूर्ण समय देकर इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका बोहोत-बोहोत धन्यवाद।



Bank Me Paise Rakhne Se Fayda Ya Nuksan


नमस्कार दोस्तों आपका AnekRoop में स्वागत है। आज हम जानेंगे कि बैंक में हम पैसे रखते हैं तो उससे हमें फायदा होता है या नुकसान होता है। और यदि फायदा या नुकसान होता है तो कितना फायदा -नुकसान होता है। भविष्य में बैंकों की हालत क्या होने वाली है ? और सबसे जरूरी चीज़ कि यदि हम बैंकों में पैसे नहीं रखते हैं तो फिर हम अपने पैसे कहाँ सुरक्षित रख सकते हैं ?

 आज का post कुछ ख़ास होने वाला है , कुछ रोचक बातों को हम जानेंगे जो बैंक वाले आपसे छुपाते हैं और कुछ analysis भी करेंगे जिससे की आपका पैसा grow करे।

pmc bank me narebaji
bank me paise rakhna fayda ya nuksan
.
बैंक में पैसे रखना फायदा या नुकसान। 

आप सोच रहे होंगे कि बैंक में पैसे रखने से नुकसान कैसे होता है ? तो जवाब सुन लीजिये कि नुकसान होता है।
इससे पहले कि मैं आपको कुछ बताऊँ मैं आपको कुछ उदाहरण देना चाहता हूँ जिससे कि आपको अच्छे से समझ में आ सके।

#1 HDFC बैंक के Chairman दीपक पारेख की बयान।

दीपक पारेख - जिस तरह से बड़ी-बड़ी कंपनियों को लोन देकर उसे माफ़ किया जा रहा है और आम व्यक्ति के पैसों का ब्याज घटाया जा रहा है , इससे आम लोगों का भरोषा बैंकों के प्रति नाकारात्मक होते जा रही है।
हमारे पास उनके पैसों को सुरक्षित रखने का कोई system नहीं है, जिससे कि हम उन्हें भरोसा दिला सके कि आपका पैसा सुरक्षित है।

उन्होंने कहा कि भरोषा जितने में वर्षों लग जाते हैं लेकिन भरोषा तोड़ने में 1 सेकंड भी नहीं लगते। हम आम लोगों के पैसों का misuse करके उन्हें सड़कों पर आंदोलन करते नहीं देख सकते। यदि देश का विकाश चाहिए तो आम लोगों की savings जरूरी है। जो की 30% से घटते जा रही है।
(आप उनका बयान youtube पर deepak parekh on bank scam सर्च करके देख सकते हैं। )

#2  SBI बैंक में हो रही धोखाधड़ी।

RTI के एक report के मुताबिक 76000 करोड़ रुपयों के लोन को बैंक ने माफ़ कर दिया है। यह लोन 200 बड़े कंपनियों को दिया गया था जिसे बैंक वाले वसूलने में असमर्थ रहे।
तो अब आप बताइये कि ये रुपये किनके थे ? जिसे बैंक ने लोन में दिया था ? ये आपके पैसे थे , हमारे पैसे थे।

और पिछले 3 सालों में 2 लाख 41 हज़ार करोड़ वसूलने में असमर्थ रहे जिन्हे माफ़ किया गया। (1000 लोगों का )
और किसानों का 2 लाख 21 हज़ार करोड़ माफ़ किया गया।

किसानों का तो समझ में भी आता है , लेकिन निजी कंपनियों का पैसा  कोई कैसे बैंक वाले माफ़ कर सकते हैं ?
इससे साफ़ पता चलता है कि अब बैंकों के नाम पर हमारे पैसों को लुटा जा रहा है। पहले तो वे लोग कहते हैं कि हम पैसों को recover करने में असमर्थ रहे , तो हमारे ब्याज को कम कर देते हैं और जब पैसे recover हो जाते हैं तो बैंक वाले वो पैसे आपस में बाँट लेते हैं। कुछ पैसे बैंक वाले खाते हैं , कुछ politician खाते हैं और कुछ कंपनी वाले खाते हैं। और ऐसे यह बैंकों के लूट का कारोबार तेजी से बढ़ रहा है।

और यदि सभी बड़ी कंपनियां डूब जाती है जिसे बैंकों से लोन मिला है तो ऐसी स्थिति में आपके द्वारा जमा पैसे भी आपको नहीं मिलेंगे। सिर्फ 1 लाख रुपये ही आप निकाल पाएंगे।
क्योंकि 1 लाख से अधिक की guarantee बैंक वाले नहीं लेते हैं।

मैं एक video का लिंक निचे दे रहा हूँ जिसे आप देख करके और अच्छे से समझ सकते हैं।
#3 PMC बैंक ने हज़ारों लोगों का पैसा डुबोया।

जब हमें हमारे हक़ के पैसे नहीं मिलते तब सबसे ज्यादा गुस्सा आता है , ऐसा इसलिए भी क्योंकि गुस्से के अलावा हमारे पास और कुछ बचता भी नहीं है।
PMC ( Punjab and Mumbai Co-Operative Bank ) के घोटाले के बारे में आपने सुना ही होगा।
बिलकुल ऐसा ही हुवा कि लोगों के हक़ के पैसे उन्हें नहीं दिए जाने लगे। लोगों ने काफी आंदोलन किया , महिला ,बुजुर्ग सभी road पर आये काफी नारेबाजी हुयी , काफी कुछ लोगों ने सहा।

पहले तो 6 महीने में 1000 रुपये ही निकालने को दिया गया। नारेबाजी और ज्यादा हो गयी NDTV India न्यूज़ channel में report भी दिखाई गयी।
RBI ने 1000 से बढाकर 10000 कर दिया फिर कुछ दिनों के बाद 25000 कर दिया गया। तो ऐसे ये हमारे पैसों को रोकने लगे हैं।

पहले तो खुद गलती करके सिर्फ 1 ही कंपनी को 6500 करोड़ रुपयों का लोन देते हैं और उसे जब नहीं वसूल पाते हैं तो फिर हमारे पैसों को रोक देते हैं , हमें हमारे हक़ के पैसे निकालने नहीं देते है।
PMC बैंक ने अपने पुरे लोन का 73% HDIL कंपनी को दे दिया जो 6500 करोड़ रुपये थी।

अब इसे आप क्या कहेंगे ?

ये आपके पैसों को लूटने का नया तरीका है। पहले तो कंपनी से पैसे नहीं वसूलने का बहाना करते हैं और फिर बाद में सभी पैसों को आपस में ही खा लेते हैं । वाह जी वाह , ऐसी सफ़ेद कमाई देखि है कही ?
तो मेरे कहने का अर्थ है कि आप सचेत हो जाये , कभी भी आपके पैसे आपको ही निकालने नहीं दिया जायेगा।
दुनिया दिन दुगनी रात चौगुनी बिगड़ रही है। कभी भी कोई कंपनी आगे चली जा रही है तो कोई कंपनी सड़क पर आ रही है।

( आप PMC बैंक के हुयी धोखाधड़ी की कहानी NDTV इंडिया न्यूज़ चैनल में देख सकते हैं जिसका link मैंने निचे दे दिया है )
(ब्याज दर से) - बैंकों में पैसे रखना फायदा या नुकसान ?

यदि हम ब्याज दर (interest rate ) के नजरिये से देखें तो क्या हमें फायदा हो रहा है या नुकसान हो रहा है ?
तो जवाब है कि वहाँ भी नुकसान ही हो रहा है।

तो इसे जरा ध्यान से समझिये कि मौजूदा RBI का inflation 3.50% है वहीँ SBI का ब्याज दर 3.25 % है।
Inflation यानि जीवन जीने की लागत (पैसों ) में बढ़ोतरी।  और यहां साफ़ देखा जा रहा है कि बढ़ोतरी 3.50 % की हुयी है वही ब्याज सिर्फ 3.25 % ही दिया जा रहा है वो भी जिसके पास 1 लाख से कम पैसे है। 1 लाख से अधिक पैसों वाले को और भी कम सिर्फ 3 % ब्याज ही दिया जा रहा है।

यदि इसे एक उदाहरण से समझे तो - 1 लाख रुपये हमारे बैंक में जमा हैं। तो एक साल के बाद उस एक लाख का मुझे 3 % ब्याज के अनुसार 103000 मिलना चाहिए। वहीँ बाजार की value 1 साल के बाद 103500 हो जाती है। यानि 100000 रुपये का जितना सामान हम अभी खरीद रहे हैं उतना ही सामान 1 साल के बाद हम खरीदेंगे तो हमें 500 रुपये अधिक देने होंगे। यानि हमारे पैसे की value कम हो जाती है।

बाजार में महंगाई जिस तरह से बढ़ रही है , उस तरह से बैंक में यदि कोई व्यक्ति पैसे रखता है तो वह बोहोत घाटे में जा रहा है। RBI के अनुसार 3.5 % inflation rate है। लेकिन बाजार को आप देखे तो ये rate कई ज्यादा हैं। आप ऐसी एक भी चीज का नाम नहीं बता सकते तो सस्ती हुई है। सब महंगी होते जा रही है।
सब महँगी हो रही है और आपका पैसा उतना का उतना ही है तो आप धीरे-धीरे गरीब होते जा रहे हैं। आप ज्यादा खर्च नहीं कर पाएंगे जिससे की बाजार में तंगी आएगी और उससे आर्थिक विकाश नहीं होगा।



तो इससे साफ़ हो जाता है कि ब्याज दर से ( interest rate ) से भी बैंकों में पैसे रखना बेवकूफी होगी।

Ye bhi Jane :-
उपाय - अपने पैसों को कहाँ लगाए ?

आप कहेंगे कि हमारे payment तो सभी बैंकों में ही आते हैं , अब बैंक में पैसे नहीं रखे तो फिर कहाँ रखे ?
तो इसका जवाब है आप अपने पैसे बैंकों में रखें लेकिन बैंकों के भरोसे में ना रहे।
कौन बैंक कब दिवालिया घोसित हो जाये इसका कोई भरोसा नहीं है तो आप अपनी security खुद करें।
ऐसी जगह अपना पैसा लगाए जहां आपको भरोसा हो।

जैसे :- कहीं पर कोई जमीन लेकर छोड़ दे क्योंकि जमीन की कीमत तेजी से बढ़ रही है।
किसी कंपनी में निवेश कर सकते हैं जिसपर आपको भरोसा हो।
कोई apartment या घर खरीदकर उसे भाड़े में दे सकते हैं।
ऐसे ही कई उपाय हैं जहां आप अपने पैसों को लगाकर उसे बढ़ा सकते हैं।



Note :- अब ये सारी बात भरोसे पर आकर रूक गई है। आप जरूरत के पैसे अपने घरों में जरूर रखे। कब बाढ़ आ जाये कब कौन सी आफत आ जाये और बैंक सहयोग ना दे पाए तो ऐसी स्थिति में आपको परेशानी ना हो। आप अपने पैसों का इस्तेमाल कर पाए।

इसी के साथ आज का ये post मैं समाप्त करता हूँ। आशा करता हूँ कि आप भी इस पोस्ट को पढ़कर जागरूक हो जाये और लोगों को भी जागरूक करें। यदि आपका कोई सवाल या कोई सुझाव है तो हमें comment करके जरूर बताये।
और इस post को अपने दोस्तों तक, परिवार के लोगों तक  जरूर share करें। इसे आप facebook ,watsapp में भी share कर सकते हैं।
अपना महत्वपूर्ण समय देकर इस post को पढ़ने के लिए आपका बोहोत-बोहोत धन्यवाद।

घर से बाहर जाने पर ATM परिवार को देने के लिए Application


नमस्कार दोस्तों आपका AnekRoop में स्वागत है। आज हम application लिखेंगे कि यदि आप घर से बाहर जाते हैं और atm वाले घर में देने आते हैं तो उसे अपने परिवार वालों को दे सके । ऐसा कई बार होता है कि हम ATM के लिए apply करते हैं और फिर किसी कारन हमें घर से बाहर जाना होता है फिर postman atm किसी को भी नहीं देते वापस चले जाते हैं। ऐसी परिस्थिति में अगर घर वालों को पैसों की जरूरत हो तो भी वे नहीं निकाल सकते।

bahar jane par atm pariwar ko dene ke liye application
bahar jane par atm pariwar ko dene ke liye application
.

              इसके लिए आप एक काम कर सकते हैं कि बैंक वालों को पहले से एक application लिखकर दे सकते हैं कि मेरी गैरमौजूदगी में atm मेरे घर वालों को दे दी जाये। जिससे की atm आपके घर वालों को दे दी जाएगी और फिर आप निश्चिंत हो जायेंगे।

और कभी कभी ऐसा भी होता है कि busy होने के कारन आप हर समय घर पर नहीं रह सकते हैं , और post office जाने में भी अलग से time देना ना पड़े तो उसके लिए आप पहले से ही बैंक में application देकर इस झंझट से दूर हो सकते हैं।

हालाँकि कई बैंक ऐसे भी है जो घर वालों को भी atm दे देते हैं , वहीँ कई बैंकों के ऐसे भी नियम है कि बिना owner के वे किसी को भी atm card नहीं देते हैं।

.
Ye bhi Jane :-

घर से बाहर जाने पर ATM परिवार को देने के लिए Application 

सेवा में ,
श्रीमान शाखा प्रबंधक
बैंक ऑफ़ बरोडा (कायमगंज )

विषय :- घर से बाहर जाने पर एटीएम परिवार को देने हेतु।
महाशय ,
               सविनय निवेदन है कि मैं (मेवालाल वघेला ) आपके बैंक का एक खाताधारी हूँ। मैंने अभी-अभी एक नए एटीएम के लिए आवेदन किया है किन्तु मुझे एक बिज़नेस के काम से बाहर जाना भी पड़ रहा है।
बाहर से आते-आते मुझे कई दिन लग जायेंगे ऐसी स्थिति में मैं एटीएम प्राप्त करने में असमर्थ रहूँगा।

मेरे परिवार को आर्थिक संकट ना जाये जिसके लिए मैं आपसे निवेदन करता हूँ कि एटीएम मेरे परिवार के सदस्यों को दे दी जाये ताकि मुझे कोई फिक्र ना हो और सभी ख़ुशी से रहे। इसके लिए हम सदैव आपके आभारी रहेंगे।

आपका विश्वाशी।

मेवालाल वघेला
अकाउंट नंबर -
मोबाइल नंबर -
दिनांक -
हस्ताक्षर -

आप इस application का फोटो भी प्राप्त कर सकते हैं।

atm ghar walon pariwar ko dene ke liye application.




तो दोस्तों यह थी जानकारी कि घर से बाहर जाने पर एटीएम परिवार को देने के लिए application कैसे लिखेंगे। मैं उम्मीद करता हूँ कि आपको यह application जरूर मदद करेगी।
यदि आपका कोई सवाल या कोई सुझाव है तो हमें comment जरूर करें और किसी और विषय पर application चाहते हैं तो वो भी हमें बताये।


और इस post को अपने दोस्तों तक जरूर share करे।
अपना महत्वपूर्ण समय देकर इस post को पढ़ने के लिए आपका बोहोत-बोहोत धन्यवाद।